चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में हिंसा पर गृह मंत्रालय ने ममता सरकार से मांगा जवाब

 चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में हिंसा पर गृह मंत्रालय ने ममता सरकार से मांगा जवाब

पश्चिम बंगाल। गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार से राज्य में विपक्षी राजनीतिक कार्यकर्ताओं के साथ चुनाव के बाद हुई हिंसा को लेकर रिपोर्ट मांगी है।राज्य में चुनाव के नतीजे आते ही हिंसा का दौर शूरू हो गया है।बीजेपी और टीएमसी नेताओं की झड़प में 24 घंटे में पांच लोगों की मौत हो गई।

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी की सत्ता में वापसी के साथ राज्य में हिंसा का तांडव एक बार फिर शुरू हो गया है।बीजेपी नेताओं का आरोप है कि चुनाव परिणाम आने के 24 घंटे के अंदर बीजेपी के 5 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है।बीजेपी ने कहा कि राज्य में दर्जनों बीजेपी समर्थकों के घरों में तोड़फोड़ की गई है और पार्टी कार्यालय में आग लगा दी गई है। चुनाव के दौरान सुर्खियों में रहे सीतलकुची में गोली मार कर एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई। बीजेपी ने टीएमसी पर आरोप लगाई है।

दक्षिण 24 परगना जिले के सोनारपुर में तृणमूल पर बीजेपी कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या करने का आरोप लगा है।मृत बीजेपी कार्यकर्ता का नाम हारन अधिकारी बताया जा रहा है।वह सोनारपुर दक्षिण के प्रतापनगर इलाके का निवासी है।कथित तौर पर,बीजेपी के एक से अधिक कार्यकर्ताओं के साथ हाथापाई की गई है। वहीं कोलकाता में तृणमूल पर कंकुरागाछी में बीजेपी कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या करने का आरोप लगा है।मृतक बीजेपी कार्यकर्ता का नाम अभिजीत सरकार है।

 

Share