इस मुस्लिम देश में हिंदू परंपराओं की हो रही है तारीफ

0
436

जकार्ता। इंडोनेशिया दुनिया का वो देश है जहां दुनिया की सबसे ज्यादा मुस्लिम  जनसंख्या रहती है। यहां की 90% से भी ज्यादा आबादी मुस्लिम ही है. हालांकि यहां के शहर बाली में बड़ी संख्या में हिंदू भी रहते हैं और यहां ढेर सारे हिंदू मंदिर भी मौजूद हैं।

इंडोनेशिया में बाली सिर्फ अकेला ऐसा द्वीप है जहां हिंदू बहुसंख्यक हैं। बाली का नया साल (Bali New Year) भी शक संवत् पंचांग से तय होता है, जो चंद्रमा की गति पर आधारित है।

बता दें कि शक राजवंश की स्थापना 78 ईस्वी में भारतीय राजा कनिष्क ने की थी. हिंदू धर्म प्रचारक इसे लेकर जावा पहुंचे थे और वहां से यह बाली पहुंचा. BBC की एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना संक्रमण के इस समय में इंडोनेशिया के लोग बाली के कल्चर और परंपराओं की काफी तारीफ कर रहे हैं।

खासकर बाली के ‘मौन दिवस; की काफी चर्चाएं हैं. इस दिन लोग पूरे दिन अपने घरों में 24 घंटे के लिए चुपचाप रहते हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हैं।

परंपरा में ही है सोशल डिस्टेंसिंगइस रिपोर्ट के मुताबिक जहां दुनिया भर के लोग कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन सिस्टम से तंग नज़र आ रहे हैं वहीं यहां के लोगों के लिए सामान्य बात है। हर साल न्येपी (मौन रखने का दिन) के मौक़े पर यह द्वीप ख़ामोश हो जाता है. किसी को घर से बाहर निकलने की इजाज़त नहीं दी जाती।

इस दिन न तो घर में लाइट जलाई जाती है और आग जलाने की भी मनाही होती है. इस दिन सभी को चिंतन करना होता है इसलिए मनोरंजन की भी मनाही होती है। न सिर्फ दुकानें बल्कि 24 घंटे के लिए हवाई अड्डे भी बंद रखे जाते हैं। एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here