गांवों का रुख करेंगी स्वास्थ्य विभाग की टीमें,कल से शुरू होगा अभियान

गांवों का रुख करेंगी स्वास्थ्य विभाग की टीमें,कल से शुरू होगा अभियान

 5 से 9 मई तक घर-घर दस्तक देने के लिए निकलेगी टीमें

खांसी,सर्दी,जुकाम व सांस रोग वालों में कोविड के लक्षणों को पहचानेगी

फिरोजाबाद।ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग 5 से 9 मई तक विशेष कोविड जागरूकता अभियान चलाएगा। स्वास्थ्य विभाग की टीमें आज से गांवों में घर-घर जाकर लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करते हुए लक्षण के बारे में बताएंगी। सर्दी,जुकाम,खांसी,बुखार इत्यादि लक्षण मिलने पर मरीजों को घर पर मेडिकल किट उपलब्ध कराएंगी। यह अभियान 9 मई तक पांच दिन तक चलेगा। अभियान में कोविड गाइडलाइन का पालन किया जाएगा।

मंगलवार को ब्लॉक स्तर पर सभी आशा कार्यकर्ता और सुपरवाइजर को प्रशिक्षण दिया गया। ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना पाजिटिव की बढ़ती संख्या को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्र की जनता को औषधियां और उपचार सुलभ रूप से उपलब्ध कराने के लिए जो विशेष अभियान शुरू किया जा रहा है,उसमें भी आशा के अतिरिक्त दो अन्य कर्मचारी एक टीम में रहेंगे। प्रत्येक टीम में आशा,आंगनवाड़ी वर्कर, अध्यापक अथवा निगरानी समिति के सदस्य में से उपलब्धता के आधार पर कुल दो सदस्य ही चयनित किए जाएंगे।

बड़ी संख्या में लगाई जाएगी टीमें
इस कार्य को संपन्न करने के लिए जिले में बड़ी संख्या में लगाई जाएगी। जिसमें प्रत्येक टीम में दो सदस्य होंगे, साथ ही इस कार्य की निगरानी और रिपोर्टिंग के लिए सुपरवाईजर भी लगाये गए हैं।टीमें लक्षण युक्त व्यक्तियों को सूचीबद्ध कर उनकी सूचना ब्लाक तथा जनपद मुख्यालय को प्रेषित करेंगी। ऐसे सभी व्यक्तियों की नजदीकी जांच केंद्र पर जाकर जांच कराई जाएगी। कार्य योजना फॉर्मेट,रिपोर्टिंग फॉर्मेट,मेडिसिन किट के साथ रखे जाने वाले पम्पलेट का प्रारूप भी टीम के पास रहेगा ।

बुखार-खांसी-दस्त को न करें नजरअंदाज
आपको बुखार, खांसी-जुकाम है तो उसे साधारण फ्लू समझने की गलती बिल्कुल न करें। यह कोरोना के लक्षण भी हो सकते हैं दस्त भी है तो भी डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें। कोविड-19 टेस्ट कराएं रिपोर्ट के अनुसार इलाज कराएं।

सीएमओ डा.नीता कुलश्रेष्ठ ने बताया कि गृह भ्रमण के दौरान टीम कोविड रोग के लक्षणों वाले लोगों को खोजेगी। उन्हें बचाव के उपायों, उपलब्ध जांच एवं उपचार सुविधाओं के विषय में अवगत कराएगी। ऐसे लक्षण युक्त व्यक्तियों को जिन्हें तत्काल औषधि की आवश्यकता है, उन्हें औषधि मुहैया कराएंगी। ज्यादा गंभीर लोगों के नाम पोर्टल पर अपलोड होंगे। साथ ही प्राइमरी व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी को हुए वह नाम नोट कराए जाएंगे।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला सामुदायिक प्रबंधक रवि कुमार ने बताया कि अभियान के लिए माइक्रो प्लान तैयार कर लिया गया है। इस अभियान में 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को टीकाकरण के बारे में भी बताया जाएगा।

Share