महान धावक मिल्खा सिंह पंचतत्व में विलीन

महान धावक मिल्खा सिंह पंचतत्व में विलीन

चंडीगढ़। भारत के महान धावक मिल्खा सिंह के पार्थिव शरीर का पूरे राजकीय सम्मान के साथ बदनौर सेक्टर-25 श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम बिदाई में केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू, पंजाब सरकार के मंत्री, कई बड़े नेता और अधिकारी भी मौजूद रहे।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मिल्खा सिंह के सम्मान में एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा भी की है। मिल्खा सिंह ने कल रात पीजीआई में कोविड से जूझते हुए अंतिम सांस ली। उनके परिवार में एक पुत्र और तीन बेटियां हैं।मिल्खा सिंह की पत्नी पत्नी निर्मल मिल्खा सिंह की कोरोना से 6 दिन पहले मृत्यु हुई जिसके बारे में उन्हें नहीं बताया गया। वे उनसे बात करने की जिद कर रहे थे।

भारत सरकार ने खेल जगत में उनके योगदान के लिए देश के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्मश्री के साथ सम्मानित किया। कैप्टन सिंह ने शोकाकुल परिवार,सगे-संबंधियों,दोस्तों और खेल प्रशंसकों के साथ दुख साझा करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति और परिवार को इस दुख की घड़ी में शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की।

 

Share