गूगल ने पेश किया नया फैक्‍ट चेक टूल

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच सोशल मीडिया पर फर्जी वीडियो और इमेजेज को लेकर भी लोग काफी परेशान हैं। हालांकि, फर्जी इमेज और वीडियोज के वायरल होने का चलन कोई नया नहीं है। पहले भी ऐसे मामले सामने आते रहे हैं। अब सर्च इंजन गूगल ने इन फर्जी इमेज और वीडियोज को पहचान कर उन पर रोक लगाने के लिए खास टूल पेश किया है।

गूगल ने इस खास टूल में फेक इमेज को पहचानने के लिए नया फैक्ट चेक मार्कर जोड़ा है, जो यूजर को सर्च की गई इमेज के साथ दिखेगा।

गूगल का ये टूल फर्जी फोटो की पहचान कर उसकी लेबलिंग कर देगा। यह लेबल इमेज और वीडियो के वेब पेज के नीचे दिखेगा। यही नहीं, फैक्ट चेक में तस्‍वीर के सोर्स से लेकर उससे जुड़ी हर जानकारी मिल जाएगी।

गूगल के प्रोडक्ट मैनेजर हैरिस कोहेन ने कहा कि दुनियाभर में जानकारी का अहम सोर्स फोटो और वीडियो को माना जाता है। ऐसे में कई बार गलत विजुअल्स और इमेज की वजह से लोगों को काफी नुकसान झेलना पड़ता है।

गूगल ने कहा है कि सर्च रिजल्ट  के फैक्ट की जांच हर दिन 1.1 करोड़ से अधिक बार होती है। यूजर को गूगल पर इमेज सर्च करने के बाद मिली तस्‍वीर के ठीक नीचे फैक्ट चेक लेबल दिखाई देगा। ये लेबल फोटो के नीचे थम्‍बनिल के तौर पर दिखेगा यानी जब आप फोटो को बड़ा करके देखेंगे तो वेब पेज के नीचे साफ तौर पर फैक्ट चेक लेबल  नजर आएगा। एजेंसी