नगर निगम क्षेत्र में विकास कार्यों के मानक बोर्ड के नाम पर लाखों का खेल

नगर निगम क्षेत्र में विकास कार्यों के मानक बोर्ड के नाम पर लाखों का खेल

मानक बोर्ड नियमानुसार ना होने से आमजन को नहीं मिलती सही जानकारी

फिरोजाबाद। नगर निगम द्वारा कराए जा रहे विकास कार्य के मानक बोर्ड कुछ ठेकेदारों के लिए मनमानी का माध्यम बन रहे हैं। मानक बोर्ड पर निर्माण कार्य की लंबाई चौड़ाई अंकित ना होने के कारण आमजन को सही जानकारी नहीं मिलती।जिसके चलते विकास कार्य के मानक को ठेंगा दिखाकर कुछ ठेकेदार लाखों रुपए का गोलमाल कर रहे हैं। यह धांधली नगर निगम के निर्माण विभाग से जुड़े अधिकारियों के बगैर संभव नहीं है।

नगर निगम क्षेत्र में इन दिनों किसी न किसी मोहल्ले की सड़क नाली आदि के निर्माण कार्य नगर निगम द्वारा कराई जा रहे है। लेकिन नगर निगम क्षेत्र में बन रही सड़कों के मानक को लेकर विभाग और ठेकेदारों की मिलीभगत मानक बोर्ड पर स्पष्ट परिलक्षित हो रही है। किसी भी निर्माण कार्य के मानक बोर्ड पर उसकी स्वीकृत धनराशि एवं लंबाई चौड़ाई का अंकित होना आवश्यक है। ताकि उस क्षेत्र के बाशिंदों को पता रहे कि कार्य कितना होना है। लेकिन नगर निगम द्वारा कराए जा रहे विकास कार्य मानक बोर्ड के खेल का हिस्सा बन रहे हैं। लेबर कॉलोनी क्षेत्र में हाल ही में निर्मित की गई सड़क का मानक बोर्ड एवं मौके पर नवनिर्मित सड़क इस बात की गवाही दे रहे हैं। ऐसा नहीं है , कि इस धांधली में केवल ठेकेदार शामिल हो। विभागीय अधिकारियों के बगैर मानक के विपरीत मानक बोर्ड लगाकर ठेकेदार गड़बड़ी नहीं कर सकता।

मानक बोर्ड पर सही जानकारी अंकित न करने के खेल में ठेकेदार और नगर निगम के संबंधित अधिकारी दोनों शामिल हैं।नगर निगम के अवर अभियंता की मिलीभगत से ठेकेदार मानक बोर्ड पर लंबाई चौड़ाई अंकित करने के बजाए रामलाल के मकान से श्यामलाल के मकान तक इस प्रकार की सूचना अंकित करते हैं।

“फिरोजाबाद नगर निगम में जो मानक बोर्ड है उसमें लंबाई-चौड़ाई नहीं लिखी जाती है केवल मानक लिखे जाते हैं।क्या मानक यूज कर रहे हैं,बोर्ड पर मानक को दर्शाना चाहिए। तथा जब तक साइट पर काम चले तब तक मानक बोर्ड साइट पर लगा रहना चाहिए”- ए.के.पांडे अधिशासी अभियंता निर्माण विभाग,नगर निगम फिरोजाबाद। 

 

Share