रक्षाबंधन पर बहनों के लिए मुफ्त बस यात्रा का तोहफा

रक्षाबंधन पर बहनों के लिए मुफ्त बस यात्रा का तोहफा

उत्तर प्रदेश। भाई-बहन के प्यार का त्योहार रक्षाबंधन इस बार 22 अगस्त को है। इस मौके पर उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (रोडवेज) ने रक्षाबंधन के पर्व पर महिलाओं और बहनों को सभी श्रेणी की बसों में मुफ्त यात्रा का तोहफा दिया है। महिलाएं और बहनें 21 अगस्त की रात्रि 12 बजे से 22 अगस्त की रात्रि 12 बजे तक रोडवेज बसों में नि:शुल्क (मुफ्त) सफर कर सकेंगी।

21 अगस्त की रात्रि 12 बजे नि:शुल्क यात्रा

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक धीरज साहू के निर्देश पर अपर प्रबंध निदेशक सरनीत कौर ब्रोका ने रक्षाबंधन के पर्व पर महिलाओं और बहनों के नि:शुल्क यात्रा के लिए प्रदेश के सभी क्षेत्रीय प्रबंधकों ,सेवा प्रबंधकों ,सहायक क्षेत्रीय प्रबंधकों को निर्देश भेज दिया है। परिवहन निगम की सभी श्रेणी की बसों में रक्षाबंधन के पर्व पर 21 अगस्त की रात्रि 12 बजे से 22 अगस्त की रात्रि 12 बजे तक महिलाएं और बहनें मुफ्त यात्रा कर सकेंगी। इस दौरान महिला यात्रियों से किराया नहीं लिया जायेगा।

ऑनलाइन टिकट की अग्रिम बुकिंग का पैसा होगा वापस

महिलाओं की सुगम एवं सुरक्षित यात्रा के दौरान कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा। प्रत्येक बस में सीट क्षमता के अनुसार ही यात्रियों को बैठाया जाएगा। यात्रियों की अधिकता होने पर त्वरित गति से अतिरिक्त बसों का संचालन किया जाएगा। रक्षाबंधन के दिन बस में सामान्य यात्री और महिला यात्री दोनों सफर करेंगे। इलेक्ट्रॉनिक टिकट मशीन (ईटीएम) की पर्याप्त व्यवस्था उपलब्ध नहीं है। इसलिए निःशुल्क यात्रा के लिए समस्त बसों में मैनुअल टिकट बनाये जायेंगे। जिनकी प्रविष्टि मार्ग पत्र में की जायेगी। इसके अलावा जिन महिलाओं ने रक्षाबंधन के दिन ऑनलाइन टिकट की अग्रिम बुकिंग कराई है। उनके टिकट का पैसा रोडवेज प्रशासन आगामी तीन दिन यानी 72 घंटों के भीतर खाते में भेज देगा।

बसों के संचालन के लिए रूट प्लान तैयार

परिवहन निगम प्रशासन ने लखनऊ के आसपास के जिलों के लिए रूट प्लान तैयार किया है। जहां रक्षाबंधन के पर्व पर सर्वाधिक महिलाएं और बहनें राखी बांधने के लिए जाती हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश के तहत परिवहन निगम प्रशासन की कोशिश है कि रक्षाबंधन के पर्व पर महिलाओं को गंतव्य तक आसानी से पहुंचाया जाए। परिवहन निगम लम्बी दूरी की सेवाओं के साथ-साथ लखनऊ से चलने वाली जनपदीय सेवाओं को ज्यादा तरजीह देगा। ताकि आसपास के जिलों को जाने वाली महिला यात्रियों को किसी भी तरह की दिक्कतें न होने पाए।

 

Share