पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह पंचतत्व में विलीन

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह पंचतत्व में विलीन

अलीगढ़।पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का अंतिम संस्कार सोमवार शाम को बुलंदशहर के नरौरा स्थित बांसी घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ कर दिया गया है।उनको बेटे राजवीर सिंह ने मुखाग्नि दी है। 21 अगस्त को लखनऊ में कल्याण सिंह का निधन हो गया था। वो 89 साल के थे।वह पिछले करीब डेढ़ महीने से पीजीआई में भर्ती थे। उनके अंतिम संस्कार में सीएम योगी,गृहमंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई बड़े नेता शामिल हुए।

मुख्य पुरोहित चंद्र पाल आर्य ने बताया कि 20 किलो चंदन की लकड़ी, 5 क्विंटल आम की लकड़ी, 50 किलो केसर,कपूर और अन्य औषधियों की सामग्री,60 किलो घी से अंतिम संस्कार की वैदिक विधि विधान से प्रकिया पूरी की गई। उन्होंने बताया कि आर्य समाज के 21 पंडितों ने वैदिक रीति-रिवाज से उनका अंतिम संस्कार कराया।

इस दौरान सीएम योगी ने कल्याण सिंह की अंतिम विदाई पर ट्वीट कर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की. सीएम योगी ने लिखा,’ रामभक्ति में तज दिया,अपने सिर का ताज..’राम शरण की ओर चले,परम रामभक्त आज।इससे पहले आज कल्याण सिंह का पार्थिव शरीर अतरौली स्थित पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया था।यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी यहां पहुंचकर उनके अंतिम दर्शन किए। उनके अलावा यूपी सरकार में कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही भी पहुंचे।सीएम योगी समेत कई मंत्री पहले से ही यहां मौजूद थे।

श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, ‘बाबूजी का जाना बीजेपी के लिए बड़ी क्षति है। उनकी जगह भर पाना मुश्किल होगा। राम मंदिर के शिलान्यास के बाद उन्होंने कहा था कि उनका लक्ष्य पूरा हुआ।राम जन्मभूमि आंदोलन के लिए उन्होंने बिना सोचे-समझे सीएम पद छोड़ दिया था।’

 

Share