विदेश मंत्री ने स्लोवेनियाई राष्ट्रपति से की मुलाकात

विदेश मंत्री ने स्लोवेनियाई राष्ट्रपति से की मुलाकात

डेनमार्क। विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर आज से डेनमार्क की दो दिन की यात्रा पर होंगे। डॉक्टर जयशंकर डेनमार्क के विदेश मंत्री जेप्पे कोफोड के साथ भारत-डेनमार्क संयुक्त आयोग की चौथे दौर की बैठक की सह-अध्यक्षता करेंगे। बैठक में ग्रीन स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप के तहत द्विपक्षीय सहयोग की व्यापक समीक्षा की जाएगी।

स्लोवेनिया के पीएम के साथ कई मुद्दों पर हुई चर्चा

इससे पहले, शुक्रवार को विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने स्लोवेनिया के प्रधानमंत्री जानेज जानसा से मुलाकात की और द्विपक्षीय संबंधों बढ़ावा देने और वैश्विक मुद्दों पर सहयोग करने के विषय पर चर्चा की। इसमें भारत-प्रशांत,यूरोपीय चुनौती और अफगान हालात प्रमुख थे।विदेश मंत्री ने इस संबंध में एक ट्वीट कर जानकारी दी।उन्होंने बताया कि बैठक में दोनों देशों के बीच के द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाने पर चर्चा हुई। यूरोप की चुनौतियों,भारत-प्रशांत और अफगानिस्तान सहित प्रमुख वैश्विक मुद्दों पर उनकी अंतर्दृष्टि और दृष्टिकोण सराहनीय है।

विदेश मंत्री ने स्लोवेनिया की नेशनल असेंबली के अध्यक्ष इगोर जोरसी से मुलाकात की। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि स्लोवेनिया की नेशनल असेंबली के अध्यक्ष के साथ मुलाकात सौहार्दपूर्ण रही। द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने और संसदीय आदान-प्रदान और लोगों से लोगों के बीच संपर्क बढ़ाने पर चर्चा की गई

भारत अध्ययन केंद्र का किया उद्घाटन

अपनी यात्रा के दौरान विदेश मंत्री ने नोवा विश्वविद्यालय में भारत अध्ययन केंद्र का उद्घाटन किया। कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि विश्वास है कि यह भारत-स्लोवेनिया संबंधों की संपत्ति होगी। विदेशों में भारतीय छात्रों के साथ बातचीत हमेशा ऊर्जा प्रदान करती है।

प्रमुख चुनौतियों पर की चर्चा

इससे पहले गुरुवार को उन्होंने स्लोवेनिया के राष्ट्रपति बोरूट पाहोर से मुलाकात की। जयशंकर ने कहा कि हमारे संबंधों के लिए उनके लंबे समय से समर्थन की वह हृदय से सराहना करते हैं। भारत और यूरोपीय संघ के सामने प्रमुख चुनौतियों पर चर्चा की।

 

 

Share