फिरोजाबाद: अदालतें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कार्य करेंगी

फिरोजाबाद: अदालतें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कार्य करेंगी

फिरोजाबाद। सचिव,जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अम्बरीश त्रिपाठी ने बताया है कि उच्च न्यायालय इलाहाबाद के द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुपालन में जनपद न्यायाधीश ने जिला न्यायालय खोलने के सम्बन्ध में दिशा निर्देश दिये हैं जो 16 अप्रैल से अग्रिम आदेश तक के लिए प्रभावी रहेंगे। उन्होंने कहा कि अग्रिम आदेशों तक न्यायालय जिला जज,प्रधान न्यायाधीश,परिवार न्यायालय, विशेष क्षेत्राधिकार से संबंधित न्यायालय,विशेष न्यायाधीश, S.C.,S.T. अधिनियम),विशेष न्यायाधीश,(एन.डी.पी.एस.,अधिनियम) विशेष न्यायाधीश,( POCSO अधिनियम),विशेष न्यायाधीश,(ई.सी. अधिनियम),विशेष न्यायाधीश,(गैंगस्टर एक्ट),मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, सिविल जज (सीनियर डिवीजन),सिविल जज (जूनियर डिवीजन) अदालतें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कार्य करेंगी।

उन्होने बताया कि अधिवक्ता, अभियोगी, नवीनतम तकनीक का उपयोग बेल,एंटीसिपेटरी बेल एप्लिकेशन या अन्य तत्काल आवेदन को दाखिल करने के रूप में कर सकते हैं। मामलों,आवेदनों को दाखिल करने से पहले अधिवक्ताओं,अभियोगियों के पास उनके मोबाइल नंबर और ईमेल-आईडी होना अनिवार्य है इसलिए, अधिवक्ता,अभियोगी ई-मेल आईडी के माध्यम से [email protected] पर अपने आवेदन दाखिल कर सकते हैं। ई-मेल के माध्यम से प्राप्त आवेदन कंप्यूटर सेक्शन द्वारा डाउनलोड किए जाएंगे और आवश्यक सूची तैयार कर नोडल अधिकारी, कंप्यूटर और सिस्टम असिस्टेंट इसकी जाँच करेंगें। मामले दर्ज करने के लिए सिविल कोर्ट फिरोजाबाद में न्यायिक सेवा केंद्र,केंद्रीकृत फाइलिंग काउंटर उपलब्ध है। अधिवक्ता, अभियोगी इस का प्रयोग नये मामले, आवेदन के लिए कर सकते हैं,ऐसे सभी मामले,आवेदन कंप्यूटर सेक्शन में CIS में पंजीकृत होंगे। अधिवक्ता,अभियोगी के पास मोबाइल होना अनिवार्य है। इस दौरान किसी भी गडबडी की स्थिति में कम्यूटर सेक्सन द्वारा संबधित अधिवक्ता को सूचना दी जायेगी।

उन्होने बताया कि जहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कार्यवाही की जाती है कॉन्फ्रेंसिंग लिंक को अदालत की कार्यवाही के संचालन के लिए संबंधित न्यायिक अधिकारी द्वारा अधिवक्ता, अभियोजन के साथ साझा किया जा सकता है। विद्वान अधिवक्ता और अभियोजक वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से अदालत की कार्यवाही में शामिल हो सकते हैं (संबंधित न्यायिक अधिकारी द्वारा दिए गए लिंक के अनुसार)। कोविड-19 की प्रचलित परिस्थितियों के कारण, केवल उन्हीं विद्वान अधिवक्ताओं,अभियोगियों को न्यायालय परिसर में उपस्थित होना चाहिए जिनके मामले सूचीबद्ध हों। अधिवक्ताओं,अभियोगियों की सहायता के लिए सिविल कोर्ट में एक हेल्पलाइन पहले से ही दो मोबाइल नंबरों के साथ स्थापित की गई है,एडमिन ऑफिस कृपा शंकर-9457196686 और जिला प्रणाली सहायक (कंप्यूटर) राम प्रवेश यादव-7078388388 मोबाइल नंबर जिला न्यायालय की वेबसाइट पर भी प्रकाशित हैं। न्यायालय परिसर में प्रवेश करने वाले सभी व्यक्तियों को आवश्यक रूप से मास्क लगाना जरूरी है। किसी भी दशा में एक साथ कई लोग खड़े नहीं हो सकते हैं तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना सभी को अनिवार्य है।

Share