ईमानदारी के लिए महिला कर्मचारी का सम्मान

ईमानदारी के लिए महिला कर्मचारी का सम्मान

पंकज दुबे/मीरा-भायंदर।  गणपति बप्पा के आगमन पर भक्त उनके सजावट में कोई कमी नहीं छोडते और उनकी सजावट में असली सोने-चाँदी का भी उपयोग करते है, पर विसर्जन के समय भक्त अमूमन यह सभी सामान उतार कर ही मूर्ति विसर्जन करते है, पर एक ऐसा मामला सामने आया जहाँ रविवार को दिनांक 19 सप्टेंबर 2021 अनंत चतुर्दशी के दिन एक परिवार गणपति के मूर्ती से असली गहने उतरना भूल गया और विसर्जन के लिए गणपति की मूर्ति को स्वीकृति केंद्र पर दे कर वहाँ से चला गया।

पर वहाँ कार्यरत सीमा साळुंखे और मंजुला स्वामी ने यह सब वाक़या देखा और सभी गहने उतार उक्त परिवार को वापस कर दिया, इस कार्य के लिए महापौर ज्योत्सना हसनाले, आयुक्त दिलीप ढोले और स्थानिक नगरसेवक सुरेश खंडेलवाल ने इन महिलाओं का सम्मान किया ।

Share