पिता ने एक ही परिवार के 6 लोगों का किया मर्डर,6 महीने के बच्चे को भी मारा,जानिए ऐसा क्यों किया

पिता ने एक ही परिवार के 6 लोगों का किया मर्डर,6 महीने के बच्चे को भी मारा,जानिए ऐसा क्यों किया

विशाखापत्तनम।  फिल्मों में तो आपने रेप का बदला लेते कई किरदारों को देखा होगा। आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में असल जीवन में भी एक व्यक्ति ने कुछ ऐसा ही कर डाला। एक पिता के दिल में बेटी के साथ बलात्कार के बदले की आग इस तरह जल रही थी, कि उसने एक के बाद एक 6 लाशें बिछा दीं। सभी मृतक एक ही परिवार के हैं। इस परिवार के एक सदस्य ने कातिल की बेटी के साथ रेप किया था।

विशाखापत्तनम के जाट्टादा गाँव में गुरुवार (अप्रैल 15, 2021) को हुई इस घटना के बाद इलाके में सनसनी फ़ैल गई है और पुलिस तक के हाथ-पाँव फूल गए। पुलिस-प्रशासन भौंचक है कि इतना बड़ा कांड हुआ कैसे। पुलिस इस मामले की जाँच कर रही है। जिस व्यक्ति ने रेप किया था, वो अभी भी फरार है और उसे पुलिस पकड़ नहीं सकी है। पुलिस ने दोनों परिवारों के बीच पुरानी दुश्मनी होने की बात कही है।

इस घटना की जानकारी मिलते ही न सिर्फ पुलिस मौके पर पहुँची, बल्कि वहाँ ग्रामीणों की भारी भीड़ भी जमा हो गई। पुलिस ने हत्या आरोपित को हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है। साथ ही इस सामूहिक हत्याकांड में प्रयुक्त हथियार भी बरामद करने में पुलिस को सफलता मिली है। मृतकों में 2 महिलाएँ, 2 बच्चे और 1 पुरुष शामिल हैं। रेप आरोपित की भी तलाश की जा रही है।

बच्चों में एक 2 साल का और एक मात्र 6 महीने का था। हत्या आरोपित की पहचान अप्पलराजू के रूप में हुई है। दोनों परिवार आस-पड़ोस में ही रहते थे। विशाखापत्तनम के ACP वी श्रीपद राव ने बताया कि ये हत्याएँ सुबह 6 बजे की गईं। पेंडुर्थी मंडल के जाट्टादा गाँव में मृतकों को अपने घर में खून से लथपथ पाया गया। 2018 से ही दोनों परिवारों में बातचीत बंद थी। रेप आरोपित की पहचान विजय के रूप में हुई है।

मृतकों में उसकी पत्नी, 2 बच्चे, पिता और 2 चाचियाँ हैं। पुलिस इस मामले को शुरुआती जाँच में संपत्ति विवाद का मान कर चल रही है। अगस्त 2020 में इसी इलाके में एक व्यक्ति ने संपत्ति विवाद में अपने बेटे की ही हथौड़े से मार-मार कर हत्या कर दी थी। ‘द हंस इंडिया’ की खबर के अनुसार, इसी परिवार के 4 अन्य लोगों की हत्या मधुरवाड़ा के आदित्य फार्च्यून टॉवर में हुई है। शक है कि हत्या के बाद इसे आत्महत्या का रूप दिया गया।

Share