Mamata Banerjee के चुनाव प्रचार पर Election Commission ने लगाई 24 घंटे की रोक

Mamata Banerjee के चुनाव प्रचार पर Election Commission ने लगाई 24 घंटे की रोक

कोलकाता: मुस्लिमों से एकजुट होकर तृणमूल कांग्रेस (TMC) के लिए वोट डालने की अपील करना सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को भारी पड़ गया है. चुनाव आयोग (Election Commission) ने इस बयान पर कार्रवाई करते हुए बनर्जी के चुनाव प्रचार पर 24 घंटे का बैन लगा दिया है. ये बैन सोमवार शाम 8 बजे से मंगलवार रात 8 बजे तक लागू रहेगा.

EC ने 48 घंटे में मांगा था जवाब
इससे पहले बीते बुधवार को चुनाव आयोग ने ममता को नोटिस जारी कर हुगली में चुनाव प्रचार के दौरान खुलेआम सांप्रदायिक आधार पर वोट मांगने को लेकर 48 घंटे में जवाब मांगा था. लेकिन ममता ने इस नोटिस का जवाब नहीं दिया और मजाक उड़ाते हुए एक सभा में कहा था, ‘चुनाव आयोग चाहे 10 नोटिस भेज दे, मैं अपना रुख नहीं बदलूंगी.’

ममता ने कहा था, ‘विश्वविद्यालयों तक के लिए कन्याश्री छात्रवृत्ति है. अनुसूचित जातियों एवं अनुसूचित जनजातियों के लिए शिक्षाश्री है. सामान्य वर्ग के लिए स्वामी विवेकानंद छात्रवृत्ति है. अल्पसंख्यक समुदाय के मेरे भाइयों और बहनों के लिए एक्यश्री है और मैंने इसे दो करोड़ 35 लाख लाभार्थियों को दिया है. मैं हाथ जोड़कर अपने अल्पसंख्यक भाई-बहनों से अपने वोट शैतान को नहीं देने और अपने वोट को बंटने नही देने की अपील करती हूं जिसने भाजपा से पैसे लिए हैं. मैं अपने हिंदू भाई-बहनों से भी कहूंगी कि भाजपा को सुनने के बाद खुद को हिंदू और मुस्लिम में न बांटे.’

BJP ने EC से की थी शिकायत

गौरतलब है कि EC ने ये कार्रवाई केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के नेतृत्व में भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल की शिकायत पर की है. BJP ने ममता बनर्जी के वोट के लिए मुस्लिमों पर दिए बयान के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दी थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ममता पर इसी बयान के जरिए हमला बोला था. उन्होंने कहा, ‘दीदी आपने कहा कि सभी मुसलमान एक हो जाओ, वोट बंटने मत दो. लेकिन अगर हमने ये कहा होता कि सारे हिंदू एकजुट हो जाओ, बीजेपी को वोट दो तो हमें चुनाव आयोग से आठ से दस नोटिस मिल गए होते.’

 

Share