शिक्षा विभाग ने लॉच किया ऐप

ऑफलाइन भी चलेगा ऐप बच्चों का शिक्षण अब नहीं होगा प्रभावित

फतेहाबाद(आगरा)। परिषदीय विद्यालयों के छात्रों को इंटरनेट के कमजोर नेटवर्क की वजह से पढ़ाई प्रभावित नहीं होगी, बल्कि पढ़ाई में अब और ज्यादा सुधार होगा। शासन ने रीड एलोंग एप जारी किया जा किया,जो ऑनलाइन के साथ ही ऑफलाइन भी काम करेगा। यह ही नहीं कि स्मार्टफोन में निशुल्क डाउनलोड होगा

कोरोना काल में छात्रों की पढ़ाई बस्तों में बंद हो गई है। ऑनलाइन पढ़ाई का लाभ हर विद्यार्थी को नहीं मिल रहा है। देहात क्षेत्रों में इंटरनेट के कमजोर नेटवर्क की वजह से पढ़ाई नहीं हो पा रही है।सबसे ज्यादा परेशानियां यमुना नदी के निकटवर्ती एवं उटांगन नदी के गांवों में हैं,यहां पर राजस्थान के नेटवर्को से मोबाइल को कनेक्टिविटी हो जाती है।जिससे परेशानी होती है।बेसिक शिक्षा विभाग में इंटरनेट के कमजोर नेटवर्क का रास्ता खोजा है। परिषदीय विद्यालयों की पढ़ाई को दुरुस्त करने के लिए रीड एलोंग ऐप जारी किया गया है। जो बेसिक शिक्षा के बच्चों को संजीवनी देने का काम करेगा। इस ऐप में सबसे बड़ी खूबी यह है कि मोबाइल का इंटरनेट बंद करने पर भी यह सक्रिय रहेगा ।कमजोर नेटवर्क भी इसके आड़े नहीं आएगा। यानी इंटरनेट के ऑफलाइन होने पर भी आसानी से छात्र घर बैठे अपनी पढ़ाई पूरा कर सकेंगे ।

ऐप है मोबाइल का सॉफ्टवेयर: एआरपी अनिल कुमार शर्मा ने बताया कि रीड एलोंग एप स्मार्ट फोन में डाउनलोड करने पर चलेगा यह। एक मोबाइल का सॉफ्टवेयर है।गूगल प्ले स्टोर से निशुल्क डाउनलोड किया जा सकेगा। इस एप के माध्यम बच्चे आनंद पूर्वक हिन्दी इंग्लिश आदि भाषा को सहज ही सीख लेते हैं इस प्लेटफार्म पर बच्चों की सीखने की जिज्ञासा और अधिक विकसित होती हैं। और समय का सही उपयोग कर पा सकते है।इस एप में प्रत्येक विकास खंड का अलग पार्टनर कोड डालने पर उसी क्षेत्र का पढने का मेटेरियल उपलब्ध हो जाता हैं। अध्यापक भी इसे आसानी से पढा सकते हैं ।और बच्चे भी आसानी से पढ़ सकते हैं।

ब्लॉक बरौली अहीर मे परिषदीय विद्यालयों में पंजीकृत करीब 20 हजार छात्रों को ऐप का लाभ पहुंचाया जाएगा। इसके लिए विकास खंड के एआरपीयों के साथ साथ सभी प्रधानाध्यापकोंको निर्देशित कर दिया गया हैं।हर छात्र के अभिभावकों के मोबाइल में ऐप डाउनलोड कराया जाएगा। रीड एलोंग एप ऑफलाइन भी चलेगा यह छात्रों के लिए बहुत अच्छा है। पढ़ाई आसानी से कर सकेंगे।

ओम प्रकाश यादव
खंड शिक्षा अधिकारी बरौली अहीर आगरा