हेयर फॉल और हेयर लॉस को एक ही समझने की गलती नहीं करें

बाल झड़ने की समस्या के बारे में तो आप जानते ही होंगे, लेकिन कई लोग बाल झड़ने यानी कि हेयर फॉल और हेयर लॉस को एक ही समझने की गलती कर देते हैं। कई बार बाल झड़ना काफी हद तक सामान्य प्रक्रिया होती है।

माना जाता है कि अधिकांश लोगों के हर रोज करीब 100 बाल टूटते हैं, लेकिन अगर इससे ज्यादा टूटते हो तो उसके कई अन्य कारण हो सकते हैं, जिसे बाल झड़ना व हेयर फॉल कहेंगे। वहीं हेयर लॉस इससे अलग होता है, जिसमें बाल जड़ से गिर जाते है और दोबारा नहीं ऊगते।

आइए, जानते हैं कि हेयर लॉस किन कारणों से होता है –

1- कई बार हेयर लॉस आनुवांशिक कारणों की वजह से हो सकता है।

2- गलत हेयरस्टाइल व बालों का गलत रखरखाव भी इसकी वजहों में से है। कई बार बालों को रबर बैंड से कसकर बांधंने व हाई पोनी टेल नियमित बनाने से भी हेयर लॉस की समस्या हो सकती है।

3- इसके अलावा डाई, ब्लीच, स्ट्रेटनर्स या परमानेंट वेव सॉल्यूशन के इस्तेमाल से भी बाल परमानेंट झड़ना शुरू हो सकते है।

4- महिलाओं में हेयर लॉस की समस्या बर्थ कंट्रोल पिल्स लेने, प्रेग्नेंसी, डिलिवरी के बाद व मेनोपॉज आदि स्थितियों में जहां हार्मोन में बदलाव आते हैं, उस वजह से भी होता है।

5- कई बार किसी गंभीर बीमारी व सर्जरी के दौरान होने वाले तनाव से भी कुछ समय के लिए बालों के उगने की प्रक्रिया रुक सकती है। इसके अलावा थॉयराइट डिसऑर्डर, सिफलिस, आयरन की कमी या इन्फेक्शन की वजह से भी हेयर लॉस हो सकता हैं।

6- कीमोथेरेपी व कई बार कुछ दवाइयों के साइड इफेक्ट की वजह से भी हेयर लॉस शुरू हो सकता है।

7- ऊपर बताए कारणों के अलावा शरीर में पोषक तत्वों की कमी से भी बाल झड़ सकते हैं व हेयर लॉस भी हो सकता है।

8- तनाव से भी कुछ समय के लिए बालों के उगने की प्रक्रिया रुक सकती है।