Home

अतीक अहमद को गुजरात से यूपी लाने की मांग उठी

नई दिल्ली। पंजाब सरकार की तमाम रुकावटों के बावजूद भी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार मुख्तार अंसारी को यूपी लाने में सफल हुई। उच्चतम न्यायालय के आदेश पर मुख्तार को पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल में लाया गया। यहाँ मुख्तार को कड़ी निगरानी में रखा गया है। वहीं अब दूसरी ओर यूपी के कुख्यात अपराधी अतीक अहमद को भी गुजरात से यूपी लाने की माँग उठ रही है। उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्य राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने कहा है कि मुख्तार अंसारी को पंजाब से लाए जाने के बाद अब अतीक अहमद को भी गुजरात से यूपी लाया जाएगा।

मंत्री के इस बयान के बाद अब यह कहा जा रहा है कि यूपी सरकार अतीक अहमद को भी वापस लाने की कार्रवाई कर सकती है। अहमद फिलहाल गुजरात के अहमदाबाद की साबरमती जेल में बंद है।

17 वर्ष की उम्र में हत्या करके पहली बार अपराध के क्षेत्र में कदम रखने वाले अतीक अहमद को लगातार राजनैतिक संरक्षण प्राप्त होता रहा। अहमद प्रयागराज के एक थाने में हिस्ट्री शीटर अपराधी के रूप में सूचित है। उसके गिरोह को अंतरराज्यीय गिरोह के रूप में लिस्टेड किया गया है।

अहमद अपराधी होने के साथ यूपी की राजनीति का सक्रिय सदस्य भी था। निर्दलीय रूप में अपने राजनैतिक कैरियर की शुरुआत करने वाला अहमद बाद में समाजवादी पार्टी और अपना दल का सदस्य बना। 2004 में सपा के टिकट पर चुनाव जीतने वाला अहमद 2014 लोकसभा और 2018 के लोकसभा उपचुनाव में हार चुका है। 2005 में अहमद का नाम बीएसपी विधायक राजू पाल की हत्या में आया था। राजू पाल ने अहमद के भाई अशरफ को चुनाव में हराया था।

19 अप्रैल 2019 में चुनाव आयोग ने अहमद को देवरिया जेल से नैनी जेल भेज गया। इसके बाद उच्चतम न्यायालय के आदेश पर अहमद को गुजरात की जेल भेज दिया गया। वर्तमान में अतीक अहमद अहमदाबाद की साबरमती जेल में है।

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के आने के बाद माफियाओं और कुख्यात अपराधियों पर न केवल आपराधिक शिकंजा कसा जा रहा है अपितु उनकी अवैध संपत्तियों को भी नष्ट किया जा रहा है। मुख्तार अंसारी के अलावा अतीक अहमद की अवैध संपत्तियों पर भी कार्यवाई की जा रही है।

Related Articles

Back to top button