कोर्ट ने दी मंजूरी,दोषी तौसीफ के माता-पिता पर भी चलेगा केस

कोर्ट ने दी मंजूरी,दोषी तौसीफ के माता-पिता पर भी चलेगा केस

बल्लभगढ़।हरियाणा के बल्लभगढ़ का बहुचर्चित निकिता तोमर मर्डर केस एक बार फिर सुर्खियों में है। फरीदाबाद के अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेश गर्ग की अदालत ने वर्ष 2018 में हुए निकिता तोमर अपहरण मामले में आरोपी तौसीफ,उसकी मां असमीना और पिता जाकिर हुसैन पर मुकदमा चलाने की मंजूरी दे दी है। हालांकि,मुख्य आरोपी के चाचा जावेद को आरोप मुक्त कर दिया गया है।बता दें कि गत वर्ष छात्रा निकिता सिंह तोमर की हत्या करने से पूर्व मुख्य आरोपी तौसीफ ने वर्ष 2018 में भी निकिता का अपहरण किया था।

हत्या के बाद पीड़ित ने इस मामले की दोबारा से जांच करने की गुहार लगाई थी।इस पर पुलिस ने जांच कर अदालत में चार्जशीट दाखिल कर दिया था।वहीं,बचाव पक्ष के वकील अनीश खान ने अदालत में अपहरण के मामले को खारिज करने की याचिका लगाई थी। मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट ने निकिता की हत्या के पांच महीने बाद दोषी करार तौसीफ और उसके दोस्त रेहान को उम्रकैद की सजा सुनाई थी,लेकिन हथियार उपलब्ध कराने वाले तीसरे आरोपी अजरुद्दीन को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया गया था। मामले में कुल 57 गवाहों की गवाही हुई थी।हत्या के 11 दिन बाद ही फरीदाबाद पुलिस ने अदालत में चार्जशीट दायर की थी।

क्या है पूरा मामला
बीकॉम ऑनर्स की छात्रा निकिता की 26 अक्टूबर 2020 को अग्रवाल कॉलेज के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।हत्या की साजिश का आरोप सोहना निवासी तौसीफ,नूंह निवासी रेहान और अजरुद्दीन पर लगा था,जिसके बाद पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया था।निकिता के पिता ने दोषियों को फांसी मांगी थी।आरोप लगाया कि दोषी उनकी बेटी का धर्म परिवर्तन करा कर शादी करना चाहते थे,लेकिन जब वह नहीं मानी तो उसकी हत्या कर दी गई।

Share