कोरोना की वैक्सीन दिसंबर या जनवरी तक हो जाएगी तैयार: डॉ. एंथनी फौसी

अमेरिका। डॉक्टर एंथनी फौसी ने कहा कि अमेरिकियों को दिसंबर में पता चल जाएगा कि हमारे पास एक सुरक्षित और प्रभावशाली वैक्सीन है या नहीं। उन्होंने वैक्सीन फ्रंट-रनर मॉडर्ना इंक और फाइजर इंक के वर्तमान अनुमानों के आधार पर यह बात कही।गौरतलब है कि वैश्विक स्तर पर कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या 4.5 करोड़ के करीब पहुंच गई है,जबकि इस घातक संक्रमण से हुई मृत्यु की संख्या 1,179,270 हो गई है। यह जानकारी जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने शुक्रवार को दी।

विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने अपने नवीनतम अपडेट में बताया कि शुक्रवार की सुबह तक,कुल मामले 44,908,477 तक पहुंच गए और मौतों की संख्या 1,179,278 हो चुकी थी। सीएसएसई के अनुसार,अमेरिका दुनिया में सबसे अधिक कोविड-19 प्रभावित देश है।यहां संक्रमण के कुल 8,943,577 मामले और 228,636 मौतें दर्ज की गई हैं।

दुनियाभर में कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ जंग जारी है।इसी सिलसिले में कई देशों में वैक्सीन निर्माण का काम चल रहा है।अमेरिका में कोरोना वैक्सीन इस साल दिसंबर के अंत तक या फिर अगले साल जनवरी तक उपलब्ध हो सकती है। अमेरिका के संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉक्टर एंथनी फौसी ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी।

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज के निदेशक फौसी ने ट्विटर और फेसबुक पर लाइव बातचीत में वैक्सीन को लेकर अपडेट दिया। फौसी ने कहा कि अमेरिकियों को दिसंबर में पता चल जाएगा कि हमारे पास एक सुरक्षित और प्रभावशाली वैक्सीन है या नहीं.उन्होंने वैक्सीन फ्रंट-रनर मॉडर्ना इंक और फाइजर इंक से वर्तमान अनुमानों के आधार पर यह बात कही।

उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि कुछ हफ्तों के अंदर वैक्सीन ट्रायल के शुरुआती नतीजे आ जाने चाहिए।मालूम हो कि दोनों ही कंपनियों ने जुलाई के अंत में करीब दस हजार लोगों पर वैक्सीन का फाइनल ट्रायल शुरू किया।इससे पहले मॉर्डना ने गुरुवार को बताया था कि वो अगले महीने तक बड़े पैमाने पर हुए ट्रायल के शुरुआती नतीजों की घोषणा कर सकती है। वहीं,फीजर को लेकर ऐसा माना जा रहा था कि वो अक्टूबर में अपने डाटा जारी कर सकती है।लेकिन अब कंपनी की ओर से 3 नवंबर के बाद इसकी घोषणा हो सकती है।