प्रदेशफिरोजाबाद

सभी खंड शिक्षाधिकारी परिषदीय विद्यालयों में मूलभूत सुविधाओं की स्थिति स्वयं मौके पर जाकर जांचें- सीडीओ

फिरोजाबाद। सभी खंड शिक्षाधिकारी परिषदीय विद्यालयों में मूलभूत सुविधाओं की स्थिति स्वयं मौके पर जाकर जांचें। मिशन कायाकल्प के तहत ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यालयों में कराए गए विद्यालयों की भांति ही नगरीय क्षेत्र के परिषदीय विद्यालयों की कार्य योजना के अनुसार कार्य का भौतिक सत्यापन अवश्य किया जाए। ग्रीष्म ऋतु के दृष्टिगत सभी विद्यालयों में स्वच्छ व मीठे पानी की उपलब्धता हर हाल में सुनिश्चित की जाए और प्रत्येक विद्यालय में विद्युत संयोजन का कार्य अनिवार्य रूप से पूर्ण कर लिया जाए,ताकि बालक-बालिकाओं को गर्मी का सामना न करना पड़ें। स्कूलों में सामाजिक दूरी,सैनिटाइजेशन व मास्क का प्रयोग अवश्य किया जाए।उक्त निर्देश मुख्य विकास अधिकारी चर्चित गौड़ ने बुधवार को दबरई स्थित सभागार में जिला शिक्षा एवं अनुश्रवण समिति की बैठक के दौरान अधीनस्थों को दिए।

उन्होंने कहा कि परिषदीय विद्यालयों में शासन की मंशा के अनुरूप बेहतर शिक्षा का माहौल तैयार किया जाए। मिशन कायाकल्प योजना के तहत सभी 14 बिंदुओं के संतृप्तिकरण का कार्य बेहतर कार्य योजना एवं व्यक्तिगत रुचि लेकर हर हाल में पूर्ण किया जाए। उन्होंने कहा कि जिन विद्यालयों को पंचायत निर्वाचन के दौरान बूथ बनाया गया है,वहां सभी मूलभूत सुविधाएं समय रहते पूर्ण करा ली जाएं,जिससे कि निर्वाचन के दौरान मतदान कार्मिकों को किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि जिन कार्मिकों द्वारा अस्वस्थता का हवाला देकर निर्वाचन से ड्यूटी हटा देने का अनुरोध किया है,वह उपनिदेशक कृषि कार्यालय में मेडिकल बोर्ड के समक्ष 25 मार्च तक उपस्थित होकर अपना स्वास्थ्य परीक्षण करा सकते हैं। 312 असमर्थता जताने वाले कार्मिकों में से 263 कार्मिक बेसिक शिक्षा विभाग से ही संबंधित हैं। सम्भवतः निर्वाचन का कार्य एक ही दिन में सम्पन्न होगा,जिस हेतु मैनपावर की काफी कमी हैं,चुनाव को सम्पन्न कराए जाने हेतु किसी भी सूरत में अस्वस्थता का बहाना कर चुनावी ड्यूटी से नही बचा जाएगा।

उन्होंने बेसिक शिक्षाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि क्षेत्रीय भ्रमण के दौरान किसी भी परिषदीय विद्यालय में कंपोजिट ग्रांट का रिकॉर्ड अद्यावधिक नहीं पाया गया हैं,कम्पोजिट ग्रांट की धनराशि के खर्च का अंकन वाल पेंटिंग के माध्यम से विद्यालय की दीवार पर कराया जाए और एमसीसी सदस्यों के नाम तथा मोबाइल नंबर की स्पष्ट रूप से अंकित किया जाए। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा निशुल्क पाठ्य पुस्तकों के वितरण,यूनिफॉर्म,मिड-डे मील,जूता व बैग वितरण आदि की भी जानकारी प्राप्त की गई। बैठक के दौरान उन्होंने खंड शिक्षाधिकारियों को विद्यालयों में प्रत्येक बालक-बालिकाओं तथा दिव्यांग बालकों के भी नामांकन अनिवार्य रूप से कराए जाने के निर्देश प्रदान किए। बैठक के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.नीता कुलश्रेष्ठ,जिला विद्यालय निरीक्षक बालमुकुंद प्रसाद,सभी खंड शिक्षा अधिकारी,अधिशासी अधिकारी आदि उपस्थित रहें।

Related Articles

Back to top button