भंडाफोड़: राख मिलाकर बनाते थे नकली सीमेंट, दो भाई समेत तीन गिरफ्तार

भंडाफोड़: राख मिलाकर बनाते थे नकली सीमेंट, दो भाई समेत तीन गिरफ्तार

नई दिल्ली। पुराने सीमेंट में एनटीपीसी की राख मिलाकर नकली सीमेंट बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया गया है। जिले की स्वाट टीम ने मसूरी पुलिस के साथ मिलकर फैक्ट्री पर छापा मारा और मौके से दो सगे भाइयों समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। जबकि आरोपियों के तीन साथी अभी फरार हैं। मौके से पुलिस ने नकली सीमेंट के 370 कट्टे, राख से भरे 150 कट्टे, सीमेंट बनाने की मशीन और अन्य उपकरण बरामद किए हैं। पुलिस का कहना है कि आरोपी नामी.गिरामी कंपनियों की पेकिंग में नकली सीमेंट भरकर बेच रहे थे। फरार आरोपियों की भी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

एएसपी एवं सीओ सदर आकाश पटेल ने बताया कि पुलिस को मुखबिर द्वारा जानकारी दी गई कि अलनफ ीस फैक्ट्री के पास ग्राम भूडगढ़ी में नामी.गिरामी सीमेंट कंपनी अल्ट्राटैक, अंबुजा, डायमंड व एसीसी के नाम से नकली सीमेंट तैयार कर बेचा जा रहा है। इस सूचना पर जिले की स्वाट टीम ने मसूरी पुलिस के साथ मिलकर फैक्ट्री पर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान मौके पर मौजूद तीन लोग भागने लगे। जिनको पुलिस ने चारों ओर से घेराबंदी कर दबोच लिया। पकड़े गए आरोपियों में जयंती प्रसाद और विनोद गिरि निवासी लालकुआं कविनगर एवं अनिल कुमार निवासी चिपियाना बुजुर्ग थाना बिसरख जिला गौतमबुद्धनगर शामिल हैं। इनमें जयंती और विनोद गिरी सगे भाई हैं।

एएसपी का कहना है कि आरोपी नकली सीमेंट बनाने के लिए एनटीपीसी से राख और रेलवे स्टेशन स्थित यार्ड से पुराने (खराब) सीमेंट के कट्टे लेकर आते थे। इनकी मदद से मशीनों के जरिए नकली सीमेंट तैयार किया जाता था। तैयार सीमेंट को आरोपी नामी.गिरामी सीमेंट कंपनियों के नाम से बेचा करते थे।

 

Share