आधुनिक रसोई के लिए एक आदर्श ईंधन इण्डेन एलपीजी गैस

नई दिल्ली । इण्डेन गैस विश्व में सबसे बड़े पैक्ड-एलपीजी ब्रांडों में से एक है और उसे भारतीय सुपर ब्रांड परिषद द्वारा प्रतिष्ठित “उपभोक्ता सुपरब्रांड” का दर्जा प्रदान किया गया है।

कर चूल्हे का स्थान लेकर महिलाओं के स्वास्थ में व्यापक सुधार किया है। इण्डेन आधुनिक रसोई के लिए एक आदर्श ईंधन है जो सुरक्षा, विश्वसनीयता और सुविधा का प्रतीक है।

कॉपोर्रेशन में विशिष्ट व्यवसाय का दर्जा प्राप्त करने वाला इण्डेन नेटवर्क 53 मिलियन से अधिक घरों में रोज़ाना 1.2 मिलियन सिलेण्डर उपलब्ध कराता है, जिससे इंडियनऑयल नीदरलैण्ड की एसएचवी गैस के बाद विश्व स्तर पर एलपीजी का दूसरा सबसे बड़ा विपणनकर्ता है। इण्डेन गैस ग्रामीण, पर्वतीय और दुर्गम क्षेत्रों में 5 कि.ग्रा. के कम्पैक्ट सिलेण्डरों में, घरेलू उपयोग के लिए 14.2 कि.ग्रा. तथा वाणिज्यिक और औद्योगिक प्रयोग के लिए 19 कि.ग्रा. और 47.5 कि.ग्रा. सिलेण्डरों में उपलब्ध है।

एलपीजी मध्यम दबाव में तैयार तरलीकृत बुटेन और प्रोपेन का मिश्रण है। एलपीजी वाष्प वायु से भारी होता है, इसलिए यह सामान्यत: निचले वायुमण्डल में विद्यमान रहती है। चूँकि एलपीजी की गंध बहुत हल्की होती है अत: इसका पता लगाने के लिए इसमें मेर्कैप्टन गंध डाली जाती है। एलपीजी रिसाव होने की स्थिति में तरल का वाष्पीकरण वायुमण्डल को ठंडा बना देता है और उसमें मौजूद जल वाष्प संघनित होने पर सफेद झाग में परिवतिर्त हो जाता है जिसे आसानी से देखा जा सकता है। एलपीजी की अधिकता होने पर यह ऑक्सीजन को हटा देता है जिससे उबकाई या दम घुटने जैसा महसूस होता है।

रसोई ईंधन के रूप में एलपीजी का इस्तेमाल करते समय सुरक्षा उपायों को बढ़ाने के लिए सुरक्षा एलपीजी होज़, अग्निरोधी ऐप्रन तथा ऊर्जा दक्ष ग्रीन लेबल चूल्हों का प्रयोग करने की सिफारिश की जाती है।

साभार – इंडियन ऑइल www.ioc.com

more recommended stories