भूपेंद्र सिंह मान को भारतीय किसान यूनियन ने संगठन से अलग करने का किया ऐलान

पंजाब। पंजाब के खन्ना में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके भारतीय किसान यूनियन ने भूपेंद्र सिंह मान को अपने संगठन से अलग करने का ऐलान किया है।फिलहाल भूपिंदर सिंह मान का फोन बंद है।उनके प्रदेश अध्यक्ष से बात हुई है।उन्होंने बताया है कि मान अभी मोहाली या चंडीगढ़ में हो सकते हैं।

बता दें कि दो दिन पहले मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने कृषि कानूनों पर अंतरिम रोक लगाते हुए एक कमेटी का गठन किया।कमेटी में भूपिन्दर सिंह मान भी थे,जो भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष हैं। किसान नेता भूपिंदर सिंह मान भी उन किसान नेताओं में से हैं जो तीनों कृषि कानूनों का समर्थन करते रहे हैं।आंदोलनरत किसान उनके विरोध में रहे हैं।

14 दिसंबर को उन्‍होंने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को एक खत लिखा था।उन्‍होंने लिखा था, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में जो तीन कानून पारित किए गए हैं हम उन कानूनों के पक्ष में सरकार का समर्थन करने के लिए आगे आए हैं।हम जानत हैं कि किसान आंदोलन में शामिल कुछ तत्‍व इन कृषि कानूनों के बारे में किसानों में गलतफहमियां पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं।

हम पुरानी मंडी प्रणाली से क्षुब्‍ध व पीड़‍ित रहे हैं हम नहीं चाहते कि किसी भी सूरते हाल में शोषण की वही व्‍यवस्‍था किसानों पर लादी जाएं। हम मीडिया से भी मिलकर इस बात को स्‍पष्‍ट करना चाहते हैं कि देश के अलग-अलग हिस्‍सों के किसान तीनों कानूनों के के पक्ष में हैं।”