आयुर्वेद में बहुत संभावनाएं हैं- आयुष मंत्री

आयुर्वेद में बहुत संभावनाएं हैं- आयुष मंत्री

फरह। विश्व आयुर्वेद परिषद एवं दीनदयाल कामधेनु गौशाला दीनदयाल धाम के तत्वावधान में कोरोना की दूसरी लहर को रोकने में आयुर्वेद की भूमिका पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और संघ विचार परिवार के स्वयंसेवक और कार्यकर्ताओं की ऑनलाइन बैठक आयोजित की गई। बैठक में धर्मसिंह सैनी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आयुष,खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन ने कार्यकर्ताओं से कहा कि पहले अपने आप को सुरक्षित रखें, तब हम सब समाज को सुरक्षित रख सकते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कोरोना की जो गाइडलाइन का पालन करने को कह रहे हैं उसका पालन करते हुए घर पर रहे हैं। अनावश्यक रूप से घर से बाहर ना निकले। धर्म सिंह सैनी ने बताया कि आयुर्वेद में बहुत ही संभावनाएं हैं। हमारी रसोई में ऐसी चीजें हैं जिनका सेवन कर हम कोरोना पर विजय प्राप्त कर सकते हैं।

उन्होंने सुझाव दिया कि खाने में शीतल और बासी चीजों का सेवन ना करें। रात्रि में दूध में हल्दी डालकर पियें, प्राणायाम योगासन करें जिससे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी जिससे कोरोना को मात दी जा सकती है। प्रो. बनवारी लाल गौड़ पूर्व कुलपति ने औषध, अन्न और विहार के बारे में बताया। मन को प्रबल रखें और आयुर्वेद का पालन करें। डॉ. महेश व्यास ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद दिल्ली ने कहा कि प्रातः काल घरों में धूपन करें। मास्क का प्रयोग सही रूप में करें। नाक और मुंह पूरी तरह ढके रहे हवा न जा पाये। समय-समय सर पर हाथ धोते रहें। बाहर से आए आने पर जूता चप्पल घर के बाहर उतारे और हाथ पैरों को अच्छे से धोएं।

डॉ.व्यास ने संतुलित आहार,पूर्ण निद्रा और व्यायाम करने पर जोर दिया,जिससे कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़े। उन्होंने भाप लेने का तरीका बताया। काढ़ा या अन्य कोई आयुर्वेदिक उपचार वैद्य की सलाह से ही लेने का सुझाव दिया। रेमडेसिविर इंजेक्शन सभी के लिए आवश्यक नहीं है। 3 से 5 प्रतिशत मरीजों को ही ऑक्सीजन की आवश्यकता है। हर व्यक्ति को आवश्यकता नहीं है। उन्होंने बताया कि शंख बजाने, कपूर और अजवाइन द्वारा ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ा सकते हैं। उन्होंने आयुर्वेदिक सिद्धांतों का पालन करने पर जोर दिया और कहा कि गर्म पानी का नियमित रूप से प्रयोग करते रहे तो कोरोना से जंग जीतेंगे।

डॉ.सुरेश चौधरी अध्यक्ष विश्व आयुर्वेदिक परिषद उत्तर प्रदेश ने बताया कि कार्यकर्ता अपने आप को कैसे बचाते हुए कोरोना मरीजों की सहायता कर सहते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस मरीज की मदद करते समय मास्क अच्छी तरह पहने, हाथ में डिस्पोजल गिलब्स पहने,सैनिटाइजर 70 प्रतिशत एल्कोहल वाला प्रयोग करें, नियमित व्यायाम करें, भाप ले, काढ़ा लें। उन्होंने बताया कि प्रातः समय घर के दरवाजे खिड़कियां खोल कर रखे। एसी का प्रयोग ना के बराबर करें। टीवी न्यूज़ को 5 से 7 मिनट देखें और अफवाहों पर ध्यान ना दें।

सूर्य प्रकाश टोंक क्षेत्र संघचालक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कहा कि भारत हजारों वर्ष पूर्व से विश्व का मार्गदर्शन करता रहा है। जीवन जीने की जितनी भी विधाओं की खोज की गई थीं,वह वैज्ञानिक और श्रेष्ठ खोजें थीं। कल्याण मंत्र के साथ बैठक का समापन हुआ।
ऑनलाइन बैठक में जूम एप्प पर 500 और फेसबुक लाइव पर भी 500 से अधिक लोगों ने प्रतिभाग किया। बैठक में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचारक महेंद्र,कर्मवीर सिंह सह संगठन मंत्री भारतीय जनता पार्टी उ.प्र.,ब्रज प्रांत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और विविध संगठनों के दायित्ववान कार्यकर्ता भारी संख्या में उपस्थित रहे।संचालन डॉ.हरिराम भदौरिया ने किया।

 

 

Share