जिले में 12 से घर-घर दस्तक देंगी आशा कार्यकर्ता

जिले में 12 से घर-घर दस्तक देंगी आशा कार्यकर्ता

-संचारी रोग नियंत्रण अभियान के तहत चलाया जाएगा दस्तक अभियान
-दस्तक अभियान के दौरान टीबी मरीजों की भी होगी खोज
-ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में घर-घर जाकर आशा और आंगनबाड़ी पूछेंगी-आपके यहां खांसी बलगम वाला कोई रोगी तो नहीं

फिरोजाबाद।जनपद में 12 जुलाई से विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान के तहत दस्तक अभियान शुरु हो रहा है । इसमें आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में घर-घर जाकर लोगों की सेहत का हाल जानेंगी। उनसे पूछेंगी कि उनके घर पर किसी की तबियत तो खराब नहीं हैं। इस दौरान वह टीबी मरीजों की भी खोज करेंगी।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नीता कुलश्रेष्ठ ने बताया कि 12 जुलाई से दस्तक अभियान के तहत घर-घर जाकर लोगों की सेहत परखी जाएगी | यदि किसी में कोई लक्षण मिलता है तो उसकी जांच भी की जाएगी और उसका उपचार किया जाएगा।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ.आरएस अतेंद्र ने बताया-12 जुलाई से दस्तक अभियान में जुटी टीमें जनपद में टीबी के मरीजों की भी खोज करेंगी। आशा के अलावा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी घर-घर जाएंगी।उप जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि दस्तक अभियान में आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर परिवार के लोगों से यह भी पूछेंगी कि क्या आपके यहां किसी परिजन को खांसी व बलगम तो नहीं है? ऐसी स्थिति में उस व्यक्ति का सैंपल लिया जाएगा। बाद में उस सैंपल को टीबी रोग विभाग को दिया जाएगा।

जानें टीबी के लक्षण:

– खांसी आना
– पसीना आना
– बुखार रहना
– थकावट होना
– वजन घटना
– सांस लेने में परेशानी

Share