प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में सर्वदलीय बैठक हुई

 प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में सर्वदलीय बैठक हुई

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र से पहले आज प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में सर्वदलीय बैठक हुई। बैठक संसद भवन में बुलाई गई थी। संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही सुचारू रूप से चलाने के लिए राजनीतिक दलों का सहयोग प्राप्‍त करने के उद्देश्‍य से यह बैठक बुलाई गई थी। बैठक में हिस्‍सा लेने वालों में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह,लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी,तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन और डीएमके पार्टी के तिरूचि शिवा भी शामिल थे।

प्रधानमंत्री ने बैठक में कहा कि दोनों सदनों में स्‍वस्‍थ और सार्थक चर्चा होनी चाहिए। उन्‍होंने जन प्रतिनिधियों के सुझाव को मूल्‍यवान बताते हुए भरोसा दिलाया कि इन पर अमल करने का पूरा प्रयास किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में लोकतंत्र की स्‍वस्‍थ परंपरा के अनुरूप सदन में आम जनता से जुड़े मुद्दों को सौहार्दपूर्ण तरीके से उठाया जाना चाहिए और इस पर सरकार को जवाब देने का मौका दिया जाना चाहिए। मोदी ने कहा कि चर्चा के लिए स्‍वस्‍थ माहौल बनाना सभी की जिम्‍मेदारी है। उन्‍होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों को जमीनी हकीकतों का सही पता रहता है। ऐसे में उनके चर्चा में भाग लेने से निर्णय की प्रक्रिया मजबूत होती है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि ज्‍यादातर सांसदों को टीका लग चुका है। ऐसे में उम्‍मीद की जाती है कि संसद की गतिविधियां अराम से चलाई जा सकेंगी। मोदी ने सदन में स्‍वस्‍थ चर्चा के लिए सभी राजनितिक दलों के नेताओं से सहयोग की अपील की। उन्‍होंने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया की संसद का सत्र बिना किसी व्‍यवधान के पूरा हो जाएगा। उन्‍होंने कोविड महामारी में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना भी व्‍यक्‍त की।

संसदीय मामलों के मंत्री प्रहलाद जोशी ने बताया कि बैठक में 33 राजनितिक दलों के 40 से अधिक नेताओं ने भाग लिया और अपने महत्‍वपूर्ण सुझाव दिए।लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिड़ला की ओर से भी आज सदन के नेताओं की अलग से बैठक बुलाई गई थी। यह बैठक संसद भवन में सम्‍पन्‍न हुई। इसमें प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी,संसदीय मामलों के मंत्री प्रहलाद जोशी के अलावा कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी,डीएमके नेता टीआर बालू,बीजेडी नेता पिनाकी मिश्रा,टीआरएम नेता नमा नागेश्‍वर रॉव और शिरोमणि अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल सहित कई सांसद मौजूद थे।

संसद का मानसून सत्र 19 जुलाई से 13 अगस्‍त तक चलेगा। इस अवधि में लोकसभा और राज्‍यसभा की 19 बैठकें होंगी। दोनों सदनों की बैठक का निर्धारित समय सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक होगा।राज्‍यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू ने दोनों सदनों के विभिन्‍न राजनितिक दलों के नेताओं के साथ कल बैठक की थी।

 

Share