पिता की हत्या करने के बाद थाने में पहुंचकर कर दिया आत्मसमर्पण

पिता की हत्या करने के बाद थाने में पहुंचकर कर दिया आत्मसमर्पण

फिरोजाबाद। जमीन के टुकड़े की खातिर दो बेटों ने अपने 90 वर्षीय बूढ़े पिता की गला दबाकर हत्या कर दी। आरोपी बेटा को संदेह था कि पिता केवल एक बेटे को ही पूरी जमीन ना दे। पिता की हत्या करने के बाद एक बेटे ने थाने में खुद को सरेंडर कर दिया,वही दूसरा बेटा फरार हो गया।मामला जसराना के गांव खेरिया सलेमपुर का है। मामले की सूचना होने पर जसराना पुलिस मौके पर पहुंची और  जांच पड़ताल की।

सोमवार को जसराना थाना क्षेत्र के गांव खेरिया सेलमपुर में 90 वर्षीय मेवाराम का बड़ा बेटा हाकिम सिंह पिता मेवाराम को अपने साथ घर बुला ले आया है जहां जमीन को लेकर पिता-पुत्र कहा सुनी हुई और दो बेटों हाकिम सिंह और लाल बहादुर ने गला दबाकर हत्या कर पिता की कर दी।

दोनों भाई जमीन के बंटवारे को लेकर अपने पिता से नाखुश थे। दोनों बेटे अपने पिता से जमीन का हिस्सा मांग रहे थे। उनको शक था पिता दूसरे नंबर के पुत्र मथुरा प्रसाद को ही पूरी जमीन ना दे दे। आरोपी हाकिम सिंह और लाल बहादुर बहादुर अपने भाई मथुरा प्रसाद से रंजिश मानते थे। मृतक मेवाराम के पास 21 बीघा जमीन थी,जिसमें से 9 बीघा जमीन को बेच दिया था। जबकि 12 बीघा जमीन बची थी। इसी जमीन को लेकर हत्यारोपी बेटों का अपने पिता से विवाद चल रहा था। इसी को लेकर दोनों बेटों ने अपने पिता को मौत के घाट उतार दिया।

पिता की हत्या करने के बाद छोटे बेटे लाल बहादुर ने थाने में पहुंचकर आत्मसमर्पण कर दिया और पिता की गला दबाकर हत्या करने की बात स्वीकार कर ली है। उसने पुलिस को बताया कि पिता हमारे नाम जमीन नहीं कर रहे थे। जबकि दूसरा आरोपी सौतेला बेटा हाकिम सिंह फरार हो गया। मृतक मेवालाल के तीन बेटे हैं। मृतक के दूसरे नंबर के पुत्र मथुरा प्रसाद ने दोनों भाइयों के विरुद्ध पिता की हत्या करने की रिपोर्ट जसराना थाने में दर्ज कराई है। घटना की जानकारी होते ही जसराना पुलिस फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंची और मामले की तहकीकात की।

 

 

Share