CAA प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ एक नेता ने कहा योगी सरकार ने बेहद बेरहमी से कार्रवाई की

yogi samarthan caa

नई दिल्ली- उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भले ही नागरिकता कानून का विरोध करने वालों के खिलाफ़ पुलिस की बर्बर कार्रवाई से इनकार कर रही हो, लेकिन उनकी ही पार्टी के एक कद्दावर नेता ने इस बात को मंच से कबूल कर लिया है कि योगी सरकार ने प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ बेहद बेरहमी से कार्रवाई की।

पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि उत्तर प्रदेश में प्रदर्शन के दौरान जिन्होंने सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया उन्हें हमारी सरकार ने कुत्ते की तरह गोली मारी है। बता दें कि उत्तर प्रदेश में नागरिकता कानून के विरोध में हुए प्रदर्शनों के दौरान तकरीबन 20 लोगों की मौत हो गई थी। जिसके बाद आरोप लगे थे कि ये सभी मौतें पुलिस की गोलियों से हुईं।

हालांकि पुलिस ने इन आरोपों को खारिज कर दिया था और सिर्फ एक मौत पुलिस की गोली से होने की बात मानी थी। लेकिन अब बीजेपी नेता दिलीप घोष ने अपने बयान से पुलिस को ही कटघरे में खड़ा कर दिया है।

दरअसल, दिलीप घोष ने ये बयान ममता सरकार को घेरते हुए दिया। उन्होंने कहा कि ‘दीदी (ममता बनर्जी) की पुलिस ने उनलोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कि जिन्होंने सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था। उत्तर प्रदेश, असम और कर्नाटक में हमारी सरकार ने ऐसे लोगों को कुत्तों की तरह मारा है।’

दिलीप घोष यहीं नहीं रुके। उन्होंने अल्पसंख्यकों के खिलाफ अपनी कुंठा ज़ाहिर करते हुए कहा कि ‘आप यहां आएंगे, हमारा खाना खाएंगे और यहां रहकर सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाएंगे, क्या यह आपकी जमींदारी है? हम आपको लाठी से पिटेंगे, गोली मार देंगे, जेल में बंद कर देंगे।’एजेंसी

more recommended stories