शिवसेना को सता रहा है ये डर

shivsena

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव नतीजे घोषित हुए 13 दिन बीत चुके हैं। लेकिन अभी तक प्रदेश को नया मुखिया नहीं मिला है। इसी बीच खबर मिल रही है कि शिवसेना को विधायकों के टूटने का डर सता रहा है और वह अपने 56 विधायकों को एक स्थान पर शिफ्ट करने की योजना बना रहे हैं। वहीं,भाजपा प्रदेश प्रमुख चंद्रकांत पाटिल नेताओं के प्रतिनिधिमंडल के साथ दोपहर 2 बजे राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करेंगे। इस मुलाकात में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस शामिल नहीं होंगे।
आपको बता दें कि शिवसेना ने अपने सभी 56 विधायकों को मातोश्री बुलाया है। जहां पर पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे अपने विधायकों को संबोधित करेंगे। इन विधायकों को रखने के लिए शिवसेना ने मुंबई के दो होटलों को बुक किया हुआ है। फिलहाल उन होटलों के नाम सामने नहीं आए हैं।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की बैठक में शिवसेना के 6 विधायक शामिल हुए। जिसके बाद यह माना जा रहा है कि दोनों दलों के बीच सियासी खींचतान जल्द ही समाप्त हो सकती है। लेकिन शिवसेना को यह डर भी सता रहा है कि कहीं उनके विधायकों में फूंट न पड़ जाए। इसीलिए शिवसेना अपने विधायकों को सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट करने वाली है।। सूत्रों के हवाले से खबर सामने आई है कि शिवसेना एक नया सियासी दांव खेल सकता है और वह केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को मुख्यमंत्री बनाने के लिए भाजपा पर दबाव डाल सकता है। यदि नितिन गडकरी ने नाम पर आपसी सहमति नहीं बनती है तो फिर चंद्रकांत पाटिल के नाम शिवसेना विचार करेगी।

more recommended stories