चुनाव के दो दिन पहले आमदार नरेंद्र मेहता के भाई पर मारपीट का आरोप

Screenshot_2019-10-20-01-08-29-325_com.android.browser
मीरा भायंदर/ शैलेन्द्र पांडेय / मुंबई –
आमदार नरेन्द्र मेहता की मुश्किलें कम होने का नाम ही नही ले रही है। आमदार के छोटे भाई विनोद मेहता के द्वारा निर्दलीय उम्मीदवार प्रदीप जंगम के कार्यकर्ताओं के साथ जबरन मार पीट करने की एक खबर सामने आयी है। नवघर पुलिस स्टेशन इस मामले में तफ्तीश कर रहा है और आरोपो के आधार पर गुन्हा दाखिल कर लिया है।
क्या है पूरा मामला:
निर्दलिय उम्मीदवार प्रदीप जंगम के अनुसार उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं को कुछ बचे हुए पर्चे बाटने के लिए कहा था और वो वही कर रहे थे लेकिन जब यह बात विनोद मेहता को पता चली तो उन्होंने उन कार्यकर्ताओं को जबरन अपनी गाड़ी में बिठाकर उनके साथ मारपीट और गाली गलौच की। जो पर्चे प्रदीप जंगम ने अपने कार्यकर्ताओं को बांटने के लिए दिए थे उनपर नरेंद्र मेहता के खिलाफ दर्ज हुए सभी केसेस की जानकारी थी। प्रदीप जंगम का कहना था कि ये सारी जानकारियां नरेंद्र मेहता के एफिडेविट में साझा की गयी है। काफी मशक्कत करने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया।
यह घटना अब तूल पकड़ती हुई नजर आ रही है। सैकड़ो की तादाद में लोग पुलिस स्टेशन के बाहर अपना विरोध दर्ज कराने पहुँचे। प्रदीप जंगम ने इलेक्शन कमिशन के साथ ही साथ कई अन्य विभाग के अधिकारियों को ईमेल के द्वारा अपनी शिकायत दर्ज कराई। चुनावी बयार में इस तरह की घटनाएं अक्सर सुनने में आती है लेकिन इस घटना के पश्चात मेहता के प्रति लोगो का गुस्सा और बढ़ गया है।
गीता जैन के चुनाव में उतरने से 145 विधानसभा क्षेत्र में वैसे ही नरेंद्र मेहता की मुश्किलें बढ़ी हुई है और चुनाव के कुछ घंटे पहले हुई ऐसी घटनाओं से लोगो के मन मे आक्रोश और बढ़ गया है।

more recommended stories