फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति जैक शिराक का निधन

jacques chirac

न्यूयॉर्क। फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति जैक शिराक का गुरुवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। वे 86 वर्ष के थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेफ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति जैक शिराक के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि भारत एक सच्चे वैश्विक राजनीतिज्ञ और मित्र के जाने से दुखी है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया,जैक शिराक के निधन पर मैं गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। भारत एक सच्चे वैश्विक राजनीतिज्ञ के जाने से शोक में है। वह भारत के मित्र थे जिन्होंने भारत और फ्रांस के बीच रणनीतिक साझेदारी स्थापित करने और उसका निर्माण करने में निर्णायक भूमिका निभाई।’

शिराक का पहला कार्यकाल 1995 से 2002 और दूसरा कार्यकाल 2002 से 2007 तक था। वह मध्यमार्गी-दक्षिणपंथी राजनेता थे। वह दो बार फ्रांस के राष्ट्रपति बने थे। वह फ्रांस के प्रधानमंत्री भी रहे थे। उन्होंने फ्रांस में राष्ट्रपति का कार्यकाल 7 साल से घटाकर 5 साल कर दिया था। वह 18 साल तक पेरिस के मेयर भी रहे। उनके पास प्रशासन का लंबा अनुभव था।

भारत और फ्रांस की रणनीतिक साझेदारी जनवरी 1998 में भारत में शिराक की पहली यात्रा के दौरान शुरू हुई थी। वह बाद में एक बार फिर राष्ट्रपति के रूप में 2006 में भारत आए थे। शिराक पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे। भारत ने जब 1998 में परमाणु परीक्षण किए थे,उसके बाद शिराक ने उसका समर्थन किया था। शिराक का गुरुवार को निधन हो गया। वह 86 वर्ष के थे। उन्होंने 1995 से 2007 तक फ्रांस के राष्ट्रपति के रूप में सेवाएं दी।

 

more recommended stories