प्रियंका गांधी ने सोनभद्र पीडि़तों से की मुलाकात

gandi

सोनभद्र। मंगलवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के पीडित परिवारों से मुलाकात की वहीं भाजपा ने कांग्रेस नेता के दौरे को महज राजनीति करार दिया है। वाड्रा सुबह वाराणसी हवाई अड्डा पहुंची जहां से कार द्वारा वह सोनभद्र में घोरावल क्षेत्र के उम्भा गांव पहुंची जहां पिछली जून को जमीनी विवाद में दस आदिवासियों की हत्या कर दी गयी थी।

उम्भा पहुँचते ही वाड्रा गाँव की महिलाओं से पूरे अपनेपन के साथ घुल मिल गयीं,उनका हालचाल पूछा,बच्चों लड़कियों को सहलाती पुचकारती रहीं यही नहीं उन्होंने पिछली बार की यात्रा के दौरान बीएचयू ट्रामा सेंटर में घायलों से मिलने के क्रम में मिली गाँव की महिला को तुरन्त पहचान लिया और उसके साथ के घायल परिजन का हालचाल जाना।

प्रियंका वहाँ बैठी कई सौ महिलाओं के साथ गीली ज़मीन पर डेढ़ घण्टे जमकर पाल्थी मार कर बैठी रहीं और पूर्ण मनोयोग और अपनेपन के साथ उनका दु:ख दर्द साझा किया। उनको पारिवारिक और आत्मीय अहसास दिया। उसके बाद गाँव की कुछ महिलाओं लड़कियों को अपनी गाड़ी में साथ बैठा कर गाँव से तीन किलोमीटर दूर घटनास्थल पर गयीं और बारीकी से मौक़ा मुआयना किया। पीडि़तों समेत सभी भूमिहीनो को ज़मीन देने,अन्य आवश्यक शिक्षा स्वास्थ्य सहित सभी सुविधाएँ शीघ्रतिशीघ्र देने की माँग की और ज़मीन न मिलने तक गाँव वालों के साथ डट कर खड़े रहने का वादा किया।

मौक़े से वापसी में गाँव के कई पीडि़तों के घरों में भी गयीं और वहाँ उपस्थित बुज़ुर्गों महिलाओं बच्चों के साथ घुलींमिली दुख दर्द साझा किया। रास्ते में जगह जगह रुककर वाड्रा पत्रकारों से भी रूबरू हुईं और उनके सवालों का जवाब भी दिया। उन्होंने गाँव के पीडि़तों के साथ पूरी तरह से डटी रहने का वादा दुहराया और शासन प्रशासन द्वारा गाँव वालों को अभी भी प्रताडि़त करते रहने का आरोप लगाया।

more recommended stories