सुप्रीम कोर्ट का मायावती के खिलाफ प्रतिबंध में हस्तक्षेप से इन्कार

mayawati

नयी दिल्ली ।  मायावती को कोर्ट से जबर्दस्त  झटका लगा जब उच्चतम न्यायालय ने चुनाव आयोग के प्रतिबंध मामले में हस्तक्षेप करने से फिलहाल इन्कार कर दिया।

मायावती ने आयोग की ओर से उनके उपर लगाये गये कल के प्रतिबंध मामले में न्यायालय से हस्तक्षेप की मांग की। उनके ऊपर देवबंद की सभा में मुसलमानो से महा गठबंधन को वोट देने के लिए एक चुनावी सभा में कहा गया था ।

जाति, धर्म के नाम पर नफरत फैलाने वाले नेताओं और राजनीतिक दलों के खिलाफ कार्रवाई की मांग संबंधी एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान  मायावती की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता दुष्यंत दवे ने मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के समक्ष मामले का विशेष उल्लेख करते हुए कोर्ट से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया।

मायावती की ओर से दलील दी कि उनके खिलाफ प्रतिबंध कठोर है और इससे उनके  निर्धारित चुनाव कार्यक्रम प्रभावित होंगे।
मामले की सुनवाई का अनुरोध न्यायालय से किया, लेकिन मुख्य न्यायाधीश उनकी दलीलों से संतुष्ट नजर नहीं आये और उन्होंने मायावती को प्रतिबंध के खिलाफ अलग से याचिका दायर करने का निर्देश दिया।

गौरतलब है कि आयोग ने नफरत फैलाने वाले भाषण को लेकर मायावती के चुनाव प्रचार में हिस्सा लेने पर 48 घंटे और राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर 72 घंटे के लिए रोक लगा दी है। agency

more recommended stories