अमेरिका ने चीन को चेताया – इस्लामिक आतंकवाद के मुद्दे पर पाखंड बंद करे

azar massod terriost

नई दिल्‍ली : पुलवामा हमले के गुनहगार और पाकिस्‍तान समर्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर को लेकर अब भारत को अमेरिका का साथ भी मिला है. फ्रांस और ब्रिटेन के बाद अब अमेरिका ने बुधवार को संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में आतंकी मसूद अजहर को बैन करने के लिए प्रस्‍ताव दिया है. अमेरिका के इस प्रस्‍ताव का फ्रांस और ब्रिटेन ने समर्थन किया है. अमेरिका ने चीन को इस मामले पर फटकार भी लगाई है.

वहीं जैश-ए-मोहम्‍मद 2001 से ही संयुक्‍त राष्‍ट्र की आतंकियों की सूची में शामिल है. चीन संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद के पांच स्‍थायी सदस्‍यों में एक हैं. उसके अलावा अमेरिका, रूस, फ्रांस, ब्रिटेन इसके स्‍थायी सदस्‍य हैं. इनमें से फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन अब तक मसूद को बैन करने के लिए यूएनएससी में प्रस्‍ताव रख चुके हैं.

more recommended stories