ये रिश्ता क्या कहलाता है?

IMG_20190324_135929

भायंदर/ शैलेंद्र पांडे
रविवार को भाजपा और शिवसेना ने एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके मौजूदा सांसद राजन विचारे के लिए ढेर सारे वोट बटोरने और आपसी तालमेल को और बेहतर करने की बातें कहीं। कार्यक्रम के दौरान पक्ष और विपक्ष के सारे नेता मंच पर मौजूद रहे। 
मीरा भायंदर में भले ही राजनीतिक दबाव में दोनों दल एक ही मंच पर आ गए हो लेकिन भाजपा और शिवसेना के बीच की तल्ख़ी लोगो से छुपी हुई नही है। अभी ज्यादा वक्त नही बीता है जब दोनों दलों के विधायक एक दूसरे पर अपशब्दों का प्रहार करते नही थक रहे थे। मनपा में भी दोनों दलों के आपसी संबंध भी कुछ ठीक नही रहे है। 

विधायक नरेंद्र मेहता ने कहा कि कभी कभी दो भाइयों में लड़ाई हो जाती है लेकिन अब सब ठीक हो जाएगा। शीर्ष नेतृत्व ने यह निर्णय लिया है कि दोनों के बीच आपसी सामंजस्य को बढ़ाया जाए।
चुनावी बयार में सब कुछ सही दिखाने की कोशिश तो की जाती है पर यह तो आनेवाला वक़्त ही निर्धारित करेगा कि दिल कितने मिले। 
विधायक प्रताप सरनाईक ने भी वही बात दोहराई की शीर्ष नेतृत्व चाहता है कि हम साथ मिलकर लड़े और मोदी जी को एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनाये।
मौजूदा सांसद राजन विचारे ने केन्द्र और राज्य सरकार के द्वारा किये गए कार्यों के आधार पर अपने लिए जनता से वोट माँगे। 
राजनीति की खास बात यही है कि मौकापरस्त रिश्ते बनते और बिगड़ते रहते है इस नए रिश्ते से किसको कितना फायदा होता है यह 23 मई को साफ हो जाएगा।

more recommended stories