मध्य प्रदेश में मिली तितलियों की 55 प्रजातियां

मध्य प्रदेश में मिली तितलियों की 55 प्रजातियां

मध्य प्रदेश। भोपाल के पास रायसेन जिले में स्थित रातापानी वन्य जीव अभ्यारण्य में तीन दिवसीय तितली सर्वेक्षण कार्यक्रम का आज आखिरी दिन है। कार्यक्रम की रूपरेखा 10 सितम्बर से 12 सितम्बर तक तय की गई है। गौरतलब हो इसमें कुल 13 राज्यों के 88 तितली विशेषज्ञ शामिल हुए हैं। यहां शुरुआती दो दिन के सर्वेक्षण में तितलियों की लगभग 55 प्रजातियां मिली, जिन्हें सूचीबद्ध किया गया है।

13 राज्यों के 88 तितली विशेषज्ञों की 34 टीम कर रही सर्वेक्षण

अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक शुभरंजन सेन ने शनिवार को बताया कि तीन दिवसीय तितली सर्वेक्षण कार्यक्रम में 13 राज्यों के 88 तितली विशेषज्ञों को 34 टीमों में विभाजित किया गया है, जो रातापानी अभ्यारण्य में फैली 80 ट्रेल्स पर सर्वेक्षण का कार्य कर रहे हैं। शनिवार, 11 सितम्बर को इन 34 टीमों ने सुबह एवं सायं तक लगभग 60 ट्रेल्स पर सर्वेक्षण किया। सर्वेक्षण में अब तक तितलियों की लगभग 55 प्रजातियां मिली हैं, जिन्हें सूचीबद्ध किया गया है।

तितलियों की ये प्रमुख प्रजातियां भी पाई गई

उन्होंने बताया कि पाई गई इन प्रजातियों में कोमन ग्रास येलो, क्रिसमन रोज,कोमन जेजेबल,प्लेन टाइगर,बेरोनेट,चौकलेट पेन्सी,लू पेन्सी, ग्रेट एगफ्लाई इत्यादि प्रमुख हैं। वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत संरक्षित प्रजातियां जैसे कोमन पाईरट,ग्राम ब्लू, कोमन गल,डेनेट एगफ्लाई इत्यादि शामिल हैं। सर्वे में वन विभाग से तितली विशेषज्ञ रिटायर्ड प्रधान मुख्य वनसंरक्षक एन.एस.डुंगरियाल,अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक के. रमन ने भी भाग लिया।

Share