साढ़े चार वर्षो में 40 लाख गरीबों को आवास दिए गए : योगी आदित्यनाथ

साढ़े चार वर्षो में 40 लाख गरीबों को आवास दिए गए : योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के दो लाख, 853 लाभार्थियों के खाते में एक हजार, 341.17 करोड़ रुपए का ऑनलाइन हस्तांतरण किया। केवल इतना ही नहीं,इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) एवं पीएम स्वनिधि योजना के लाभार्थियों से संवाद भी किया।

पूर्व की सरकारों में गरीबों के पैसों का होता था बंदरबांट
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी सरकार में शासन की योजनाओं से प्रत्येक नागरिक बेहतर ढंग से लाभावान्वित हो रहा है। पूर्व की सरकारों में भ्रष्टाचार की शिकायतें आती थीं और बेईमान गरीबों का पैसा बंदरबाट कर लिया जाता था। गरीब देखता रह जाता था। अब प्रधानमंत्री ने ऐसी व्यवस्था बनाई है,जिससे अब हर गरीब के खाते में योजनाओं का पूरा पैसा पहुंच रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब अच्छी सरकार चुनी जाती है तो योजनाओं का लाभ बिना भ्रष्टाचार एवं भेदभाव के समाज के अंतिम पायदान तक पहुंचता है। प्रधानमंत्री की संकल्पना सुफल है कि आज गरीबों के खाते में पैसा सीधा उनके अकाउंट में पहुंच रहा है।

साढ़े चार वर्षो में 40 लाख गरीबों को आवास
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्ष के दौरान हमारी सरकार ने ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में लगभग 40 लाख गरीबों को एक-एक आवास उपलब्ध करवाया है। अकेले शहरी क्षेत्र में 17 लाख, 16 हजार से अधिक गरीबों को इस योजना का लाभ मिला है, जिनमें से आठ लाख, 65 हजार आवास अब तक बन करके तैयार हो चुके हैं। हमारा प्रयास है कि प्रधानमंत्र की मंशा के अनुरूप 2022 तक हर जरूरतमंद गरीब को योजना का लाभ मिले।

2 लाख से अधिक लाभार्थियों को धनराशि की हस्तांतरित
इसके पूर्व मुख्यमंत्री योगी ने सभी लाभार्थियों को श्री कृष्ण जन्माष्टमी की बधाई दी और कहा कि यह पर्व आप सबके जीवन में एक नए मंगलमय समाचार के साथ आया है। आज प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अंतर्गत दो लाख, 853 लाभार्थियों के खाते में एक हजार, 341 करोड़ रुपए से अधिक की राशि वितरित की गई है। जो धनराशि वितरित की गई है,इसमें प्रथम,द्वितीय और तृतीय किस्त की राशि दी जा रही है। उन्होंने कहाकि यह ‘सभी को घर’ के लक्ष्य की ओर एक मजबूत कदम है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि, पहले देश के एक प्रधानमंत्री ने कहा था कि हम 100 रुपए भेजते हैं तो गरीब के खाते में मात्र 15 रुपये पहुंच पाते हैं, यानी 85 रुपए पहले बेईमानी से दूसरे लोग हड़प जाते थे और गरीब देखता रह जाता था। आज के प्रधानमंत्री मोदी ने एक ऐसी व्यवस्था कर दी है कि अगर 100 रुपए किसी गरीब के लिए स्वीकृत हुआ है तो 100 के 100 का लाभ उस गरीब तक पहुंचता है।

यूपी को मिला देश के सर्वश्रेष्ठ स्थान
उन्होंने कहा कि इस सरकार में नगर विकास और ग्राम विकास ने जो भी कार्य किए हैं, वह पूरे देश के लिए उदाहरण बने हैं। मुझे याद है 2017 के पहले पीएम आवास योजना में उत्तर प्रदेश का कोई स्थान नहीं था। इस मामले में 2017 में प्रदेश के शहर 23 वें तथा ग्रामीण क्षेत्र 27 वें स्थान पर थे। तब की सरकारों की रुचि नहीं थी कि वह भारत सरकार की योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के गरीबों को उपलब्ध कराये, लेकिन आज मुझे बताते हुए प्रसन्नता है कि उत्तर प्रदेश में 2017 में सरकार आने के बाद नगरीय क्षेत्र या ग्रामीण क्षेत्र, दोनों में ही केंद्र सरकार की हर योजना का लाभ हर एक जरूरतमंद और हर एक गरीब को उपलब्ध कराने के लिए जो प्रयास हुए हैं,उसमें उत्तर प्रदेश ने देश के अंदर सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त किया है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में भी उत्तर प्रदेश को पहला स्थान प्राप्त हुआ। नगर पालिका परिषद मिर्जापुर को तो इसमें देश के अंदर सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार प्राप्त हुआ। देश में नगर पंचायतों में मलिहाबाद नगर पंचायत को प्रथम और हरिहरपुर पंचायत को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ है।

PM आवास योजना में अवॉर्ड हंड्रेड देश चैलेंज
मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि वर्तमान में प्रधानमंत्री आवास शहरी योजना में अवॉर्ड हंड्रेड देश चैलेंज, यानी इस योजना के अंतर्गत 21 जून से लेकर के 30 सितंबर तक एक कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। मुझे विश्वास है कि उत्तर प्रदेश इस योजना में फिर से पहले स्थान पर आएगा। आज का जो कार्यक्रम है, उसमें हम लोगों ने पीएएफएसएमएस के माध्यम से डीबीटी के माध्यम से अभी धनराशि आपके एकाउंट में भेजी गई है। आपके पास एसएमएस आ गया होगा और आपने देखा होगा कि ज्यादातर लोगों ने अभी मेरे साथ संवाद के दौरान इस बात को कहा भी है कि उनके खाते में पैसा आ गया है।

इन्हें मिलेगा योजना का लाभ
उन्होंने कहा कि जो लाभार्थी हैं, व्यक्तिगत आवास निर्माण घटक में स्वीकृत आवासों की सापेक्ष 11 लाख, 92 हजार, 929 आवासों को जियो टैग का कार्य भी प्रारंभ कर दिया गया है। इनमें से 7 लाख, 46 हजार, 550 आवास जियो टैग की स्कीम के अंतर्गत पूरी तरह आच्छादित हो चुके हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि पीएम आवास योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के अंदर हर वह लाभार्थी जिसके पास अपना आवास नहीं है, सिर्फ जमीन है लेकिन आवास नहीं है या जर्जर आवास है, जिनकी सालाना आय तीन लाख से कम है, उन सभी लाभार्थी परिवारों को इसके साथ जोड़कर उन्हें इन योजनाओं का लाभ उपलब्ध करवाया जाएगा। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज गांव, शहर, नौजवान, बुजुर्ग, महिलाएं और समाज के दिव्यांगजन तक शासन की योजनाओं का लाभ पहुंच रहा है। पहले जब चेक व नगद वितरण होता था तो भ्रष्टाचार के कारण पूरी धनराशि लाभार्थी तक नहीं पहुंच पाती थी। अब अकेले शहरी क्षेत्र में 17.16 लाख से अधिक गरीबों को इस योजना का लाभ मिला है।

 

Share