फिरोजाबाद में  खोजे गए टीबी के 33 मरीज

फिरोजाबाद में खोजे गए टीबी के 33 मरीज

-जनपद में चलाया जा रहा सक्रिय क्षय रोगी खोजी अभियान

फिरोजाबाद। 2025 तक भारत को क्षय रोग उन्मूलन के लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु जनपद में “एक्टिव केस फाइंडिंग अभियान” ( सक्रिय क्षय रोगी खोजी अभियान ) चार चरणों में चलाया जा रहा है। अभियान के दूसरे चरण में 7 से 16 सितंबर तक 128 संभावित क्षय रोगियों की स्क्रीनिंग कर सैंपल लिए गए।

इसमें से 33 मरीजों में टीबी की पुष्टि हुई।
उप जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि जनपद में क्षय रोगियों की खोज के लिए सक्रिय क्षय रोगी अभियान चार चरणों में चलाया जा रहा है। इसके अंतर्गत क्षय रोग खोजी टीमों ने घर घर जाकर लोगों से टीबी के लक्षणों के बारे में पूछताछ करके क्षय रोगियों की स्क्रीनिंग कर रही हैं। एक टीम डेली 50 घरों का भ्रमण कर रही है। इसके साथ ही लोगों को टीबी के लक्षणों की जानकारी के साथ साथ टीबी से बचाव हेतु जानकारी भी दी जा रही है |

जिला पीपीएम समन्वयक मनीष कुमार ने बताया कि अभियान के दूसरे चरण में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र की मलिन बस्तियों एवं हाई रिस्क जनसंख्या (एचआईवी एवं डायबिटीज) प्रभावित क्षेत्रों में टीबी मरीजों की घर-घर जाकर स्क्रीनिंग की गई। इसमें 33 मरीजों की खोज की गई। उन्होंने बताया कि अब जनपद में 17 सिंतबर से 30 सितंबर तक अभियान का तीसरा चरण चल रहा है।

इसमें सब्जी मंडी, फल मंडी, लेबर मार्केट, निर्माणाधीन प्रोजेक्ट, ईट भट्टों, साप्ताहिक बाजार इत्यादि में जाकर टीबी मरीजों की स्क्रीनिंग की जा रही है। अभियान का चौथा चरण 1 से 31 अक्टूबर तक चलाया जाएगा। इसमें निजी चिकित्सकों से संपर्क करके क्षय रोगियों की खोज की जाएगी। इसके साथ ही निक्षय पोषण योजना में डीबीटी भुगतान अभियान के तहत 1 सितंबर से 15 अक्टूबर 2021 तक पंजीकृत क्षय रोगियों को भुगतान किया जाएगा।

ये हैं टीबी के लक्षण:

– खांसी आना
– पसीना आना
– बुखार रहना
– थकावट होना
– वजन घटना
– सांस लेने में परेशानी

Share