प्रदेश में 5 जुलाई को 25 करोड़ पौधे लगाए जाएंगे

फिरोजाबाद। प्रदेश में 5 जुलाई को एक ही दिन में 25 करोड़ पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम को सफल बनाने एवं जनपद को चहुंओर से हरा भरा बनाने के लिए जिलाधिकारी व अध्यक्ष जिला पर्यावरण समिति चंद्र विजय सिंह के निर्देशन में 5 जुलाई को जनपद में पौधरोपण अभियान चलाकर 30.78 लाख पौधे रोपित किए जाएंगे।

मंगलवार को जिलाधिकारी व नगर विधायक मनीष असीजा ने विकासखंड हाथवंत के ग्राम पंचायत संदलपुर में नीम, जामुन,पापड़ी के पौधों को रोपित कर अभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने पौधे लगाकर लोगों को संदेश दिया कि इस पुण्य कार्य में सभी पूरे मनोयोग से लगकर अभी से आवश्यक तैयारियां पूरी कर लें और 5 जुलाई को इस वृक्षारोपण महा अभियान को सफल बनाएं।

कार्यक्रम के दौरान उन्होने विकासखण्ड की तीन ग्राम पंचायत संदलपुर,इदरई व लालई में सिरसा नदी पर चल रहें जीर्णाेंद्धार के कार्य का निरीक्षण किया और नदी के किनारें पर वृक्ष लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी विभागों को अलग-अलग पौधारोपण के लक्ष्य निर्धारित किए हैं,जिसमें ग्राम्य विकास को आवंटित वृक्षारोपण लक्ष्य 890900, राजस्व को 98500,पंचायती राज को 98500,कृषि को 165730,पर्यावरण को 77300,नगर विकास को 15500, रेशम को 24100,स्वास्थ्य को 12200,उद्यान को 59900 तथा रेलवे विभाग को 25600 सहित अन्य विभागों को भी वृक्षारोपण का लक्ष्य दिया गया है।

जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद के वन विभाग के पौधालाओं में रोपण हेतु पर्याप्त संख्या में विभिन्न प्रजातियों की पौध उगाई गयी है तथा जनपद के अन्य समस्त विभागों को रोपण हेतु निःशुल्क पौध उपलब्ध कराने हेतु वन विभाग द्वारा आपूर्ति-पत्र (इण्डेंड) जारी किये जा चुके है। उन्होने सभी सम्बन्धित विभागीय अधिकारियांे को निर्देश दिये है कि जल्द से जल्द पौधशाला से पौधों का उठान करा लें।

उन्होने कहा है कि वृक्षारेापण के दौरान कोविड-19 के दृष्टिगत नियमो का पालन करते हुए इस कार्यक्रम को जन सहभागिता से पूर्ण किया जाये। इसमें सभी विभागो के अतिरिक्त कृषक,विद्यार्थी तथा सभी वर्गो के लोगो को सम्मिलित किए जाएं। जनपद के हरियाली क्षेत्र में वृद्धि होने के साथ-साथ कृषकों के आय में वृद्धि तथा पौधरोपण के प्रति जनमानस में सद्भावना लाने की एक अनूठी पहल की जा रही है। जनपद में कुल वन क्षेत्र 2.04 प्रतिशत है यहँा की भौगोलिक स्थिति एंव बीहड़ क्षेत्र होने के कारण वर्षाकाल के जल पर सिचाई निर्भर करती है। उन्होने सभी से अपील की है कि 5 जुलाई को पौधेरोपण कर कार्यक्रम कोे सफल बनायें।