पत्नी से मांग रहे थे 10 लाख की फिरौती,पुलिस ने अपहृत को कराया मुक्त,दो अपहरणकर्ता गिरफ्तार

पत्नी से मांग रहे थे 10 लाख की फिरौती,पुलिस ने अपहृत को कराया मुक्त,दो अपहरणकर्ता गिरफ्तार

फिरोजाबाद। 2 दिन पहले युवक का अपहरण कर 10 लाख की फिरौती मांगने वाले दो अपहरणकर्ताओं को पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान खंदौली के गांव गढ़ी नैनसुख से गिरफ्तार कर अपहृत युवक को मुक्त करा लिया। एक अपहरणकर्ता भागने में सफल हो गया। बदमाशों ने पत्नी के पास फोन कर 10 लाख की फिरौती मांगी थी। अपहरणकर्ताओं को दबोच ने के लिए एसएसपी ने पुलिस की 5 टीमें लगाई गई थी।

शुक्रवार रात को 10:20 बजे एसपी सिटी कार्यालय पर एसएसपी अजय कुमार पांडे और एसपी सिटी मुकेश कुमार मिश्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले की जानकारी दी। उन्होंने बताया टूंडला के मोहल्ला केनरा बैंक के निकट टूंडली रोड निवासी कैलाश यादव का कुछ लोग 24 फरवरी को सुबह अपरहण करके ले गए थे। वह फिरोजाबाद को जाने की कहकर घर से निकले था। रात तक वह घर नहीं पहुंचा,तो पत्नी ने उसकी तलाश शुरू की। थाना टूंडला में गुमशुदगी की तहरीर दी गई।

शुक्रवार को पत्नी रेखा के पास एक फोन आया जिसमें कहा गया कि कैलाश यादव का अपहरण हो गया है। बदमाशों ने 10 लाख की फिरौती मांगी। अपहरणकर्ताओं को पकड़ने के लिए पुलिस ने 5 टीमें लगाई। पुलिस को बदमाशों की लोकेशन खंदौली के गांव गढ़ी नैनसुख में मिली। इस दौरान ग्राम गढ़ी नैनसुख में बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम की बदमाशों से मुठभेड़ हुई। बदमाशों ने युवक को एक मकान के अंदर रखा हुआ था। पुलिस ने खंदौली निवासी दो अपहरणकर्ता मुकेश और बृजकिशोर को मौके से दबोच लिया जबकि एक साथी राजू उर्फ जितेंद्र भाग गया। उसकी भी तलाश की जा रही है। एसएसपी ने बताया कि टीम को सफलता तब मिली जब आगरा के खंदौली में सबसे पहले आरोपी को दबोचा गया। उससे पूछताछ की गई,पकड़े गए बदमाशों ने कबूला कि कैलाश का अपहरण 10 लाख की फिरौती के लिए किया गया था। कैलाश यादव की पत्नी रेखा ने पुलिस को बताया कि उसके पति का पहले भी अपहरण किया गया था। तब ढाई लाख रुपए देकर छोड़ा था। कैलाश यादव प्लॉटिंग का कार्य करता है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.