बघेल और कठेरिया मंत्री पद की दौड़ में, दोनों दिग्गजों को मिल सकती है अहम जिम्मेदारी

आगरा ब्यूरो । लोकसभा चुनाव नतीजे आने के बाद मंत्री पद की दौड़ शुरू हो गई है। ब्रज से तीन नाम चले हैं। पहला आगरा सीट से जीते एसपी सिंह बघेल का है। दूसरा, आगरा से इटावा पहुंचकर जीत की हैट्रिक लगाने वाले रामशंकर कठेरिया हैं। दोनों का दावा मजबूत है। अगर दोनों ही मुकद्दर के सिकंदर बन जाए तो कोई हैरानी वाली बात नहीं होगी।
बघेल जल्द ही टूंडला विधानसभा सीट से इस्तीफा देंगे। इसके बाद यहां पर उप चुनाव होगा। दोनों नेताओं के पास बड़ा अनुभव है। कठेरिया भाजपा का दलित चेहरा हैं तो बघेल ओबीसी। ब्रज क्षेत्र में बघेल की पिछड़ों में पैठ भी मजबूत है। खासकर, बघेल समाज उन्हें अपना बड़ा नेता मानता है।
बघेल प्रदेश में कैबिनेट मंत्री हैं, इस लिहाज से भी उनकी संभावना ज्यादा मानी जा रही है। ब्रज की नजर इसी पर लगी हैं कि दोनों में से किसे मोदी के मंत्रिमंडल में स्थान मिलता है। लोग यह भी उम्मीद लगा रहे हैं कि दोनों की लॉटरी लग सकती है।
बॉक्स…
रामशंकर कठेरिया
– 2014 की मोदी सरकार में मानव संसाधन राज्य मंत्री रह चुके हैं।
– एससी आयोग के चेयरमैन हैं, पार्टी का दलित चेहरा हैं।
– जीत की हैट्रिक लगाई है। आगरा केबाद इटावा से जीते हैं।
एसपी सिंह बघेल
– प्रदेश के कैबिनेट मंत्री हैं, इसलिए संभावना ज्यादा है।
– लोकसभा चुनाव तीसरी बार जीते हैं, राज्यसभा में भी रह चुके।
– भाजपा में पिछड़ा वर्ग के नेताओं का बड़ा चेहरा हैं।