प्रधानमंत्री की शैक्षिक योग्यता के बारे में देश जानना चाहता है : केजरीवाल

  Last Updated : Thu, 15,Dec, 2016
 प्रधानमंत्री की शैक्षिक योग्यता के बारे में देश जानना चाहता है : केजरीवाल

 

नयी दिल्ली ।दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की शैक्षिक डिग्री को लेकर आज फिर हमला बोला और कहा कि देश प्रधानमंत्री की शैक्षिक योग्यता के बारे में जानना चाहता है । केजरीवाल ने अपने सरकारी निवास पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि गुजरात उच्च न्यायालय में मोदी की शैक्षिक योग्यता संबंधी डिग्री पर आज सुनवाई होनी है । लोगों का यह कथन है कि मोदी कम पढ़े-लिखे हैं और इसलिये नोटबंदी का ऐसा फैसला लिया जिससे आठ लाख करोड़ रुपये का घोटाला हुआ । मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की जनता यह जानना चाहती है कि प्रधानमंत्री कितने पढ़े-लिखे हैं। पहले  मोदी ने स्वयं कहा था कि वह कॉलेज नहीं गये ।

इसके बाद कहा कि पत्राचार से पढ़ाई कर डिग्री हासिल की है। बाद में पता चलता है कि उनकी डिग्री फर्जी है। उन्होंने सवाल किया कि अगर प्रधानमंत्री की डिग्री असली है तो लोगों को यह जानने का पूरा हक है कि  मोदी कितने पढ़े-लिखे हैं। केजरीवाल ने नोटबंदी का जिक्र करते हुये कहा कि इस फैसले से साढ़े बारह लाख करोड़ रुपये से अधिक की राशि एकत्र हो गयी है। उन्होंने कहा, “मेरी प्रधानमंत्री से मांग है कि इस राशिा का इस्तेमाल कर अपने अमीर मित्रों का नहीं बल्कि किसानों के ऋण माफ करने के लिये इस्तेमाल करें। ” दिल्ली की राजनीति पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री सीधे राजनीति नहीं करते बल्कि अपने हस्तक्षेप के लिये कभी उप राज्यपाल और कभी भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस)के माध्यम से दिल्ली सरकार के काम काज में दखल देते हैं। आईएएस एसोसिएशन के मंगलवार को दिल्ली सरकार के प्रति रोष व्यक्त करने के लिये पारित प्रस्ताव का उल्लेख करते हुये उन्होंने कहा कि इस संस्था की पहचान भ्रष्ट और निकम्मे अधिकारियों को बचाने के रूप में हो गयी है। स्वास्थ्य मंत्री के विभागीय सचिव को अपने साथ एलएनजेपी अस्प्ताल तक जाने के लिये कहने पर बड़ा अजीब जवाब मिलता है। सचिव जवाब देते हैं कि उनके पास गाड़ी नहीं है। एजेंसी





विनिमय दर