कम नींद लेने से हो सकती हैं ये बीमारी

न्यूर्याक । अगर आपको निद्रा की शिकायत है और बार-बार आंखें मींचने की आदत आपको लगती जा रही है तो समझिए आपको पार्किंसन रोग का संकेत मिल रहा है। 50 से 70 साल की आयुवर्ग वाले पुरुषों में यह आदत ज्यादा पाई जाती है। दरअसल यह आदत नींद न आने की वजह से बढ़ती है। इससे प्रभावित लोग अपने सपनों में चीखते-चिल्लाते हैं और सोते हुए ही शारीरिक प्रतिक्रिया देते हैं। इस शोध में बताया गया है कि जिन पुरुषों को अनिद्रा की शिकायत ज्यादा होती है उनमें डोपामाइन की कमी होती है। यह एक रसायन है जो भावनाओं को प्रभावित करता है।इस रोग की वजह से डोपोमाइन का उत्पादन करने वाले न्यूरॉन्स की संख्या घट जाती है।

यह भी पढ़ें  सर्दी में न पिए शराब वरना हो सकती है ये दिक्कत

उम्र बढ़ने के साथ-साथ पार्किंसन रोग के विकसित होने का खतरा बढ़ता जाता है जिसकी वजह से मस्तिष्क में डोपमाइन को बनाने वाला इम्यून सिस्टम काम करना बंद कर देता है। इस बीमारी की वजह से हाथ-पैर में कंपन बढ़ जाता है और कई अंग सुचारु रूप से काम नहीं करते। पार्किंसन रोग को नियमित व्यायाम, थेरेपी और सही काउंसलिंग से ठीक किया जा सकता है। 2016 में आई एक रिपोर्ट के अनुसार टीएमईएम नाके जीन में उत्परिवर्तन की वजह से पार्किंसन रोग होता है।  एजेंसी

यह भी पढ़ें  गीले बाल करके न सोये वरना हो सकती ये परेशानी

Loading...

more recommended stories