खराब इंटरनेट स्पीड के बीच अब कंपनियाँ करने लगी हैं 5जी सेवाओं की बात, इस कंपनी ने किया करार

समय भास्कर नई दिल्ली । भारत वाकई में विचित्र जगह है और यह के खेल भी निराले हैं । भारत दुनिया भर में अपनी खराब और धीमी इंटरनेट स्पीड के लिए मशहूर कहें या बदनाम  । वही सरकार की लापरवाही है क्योकि जहां अन्य देशों में इंटरनेट स्पीड की सीमा तय है वही आज भी भारत में ब्रॉडबैंड 512 केबीपीएस की स्पीड से  ही काम कर रहा है ।

यह भी पढ़ें – अब दिल खोल के करो शपिंग, डिजीटल ऋण के लिए पेटीएम और आईसीआईसीआई बैंक ने मिलाया हाथ

वही  4G  आने से लगा की मामला अब सुधारने वाला है लेकिन कुछ खास फर्क पड़ा नहीं , तो अब भारतीय उपभोक्ताओं को बेवकूफ बनाने के लिए टेलीकॉम कंपनी 5 जी भी लेकर आ रही है । हद है !

खैर एक नई सूचना है की स्वीडन की दूरसंचार उपकरण बनाने वाली कंपनी एरिक्सन ने कहा कि उसने दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल के भारतीय परिचालन के लिए 5जी प्रौद्योगिकी का समझौता किया है। एरिक्सन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और व्यापार प्रमुख नूनजियो मर्टिलो ने कहा ‎कि वैश्विक स्तर पर हमारे 36 कंपनियों के साथ समझौते (एमओयू) हैं।

भारत में हमने 5जी के लिए हाल ही में भारती एयरटेल के साथ करार किया है। उन्होंने हालांकि इस सौदे के वित्तीय पहलुओं की जानकारी नहीं दी। एरिक्सन इस भागीदारी के तहत एयरटेल के साथ मिलकर काम करेगी ताकि अगली पीढ़ी की दूरसंचार प्रौद्योगिकी 5जी के नेटवर्क के लिए रणनीतिक प्रारूप आदि बनाया जा सके। एरिक्सन 4जी व सेवा प्रबंधन जैसे क्षेत्रों में पहले ही भारती एयरटेल के साथ मिलकर काम कर रही है। उल्लेखनीय है कि एयरटेल ने इसी साल ऐसा एक समझौता दूरसंचार उपकरण बनाने वाली नोकिया के साथ किया था।

यह भी पढ़ें- वोडाफोन ग्राहकों के लिए आई बड़ी खुशखबरी

more recommended stories