इंश्योरेंस कंपनी एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ का आईपीओ बाजार में 

 

-लंबे समय के निवेशकों को आईपीओ सब्सक्राइब करने की सलाह

मुंबई । एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी ने खुदरा इन्वेस्टर्स से दो हजार 332 करोड़ रुपये जुटाने के बाद मंगलवार को आठ 695 करोड़ रुपये का आईपीओ भी जारी कर दिया। जानकार इस आईपीओ के वैल्युएशन को हाई मानकर चल रहे हैं। लेकिन समान क्वॉलिटी के आईपीओज की मांग के मद्देनजर उन्हें इसकी आसान बिक्री की उम्मीद है।

जानकारों का मानना है कि जो निवेशक इस आईपीओ को लंबे समय के लिए सब्सक्राइब करेंगे, उन्हें मुनाफा मिलेगा। 275 से 290 रुपये के प्राइस बैंड में 21.97 करोड़ शेयर बेचे जा रहे हैं। निवेशकों को कम-से-कम 50 शेयर खरीदने होंगे। इससे ज्यादा 50 के मल्टिपल में ही खरीदारी करनी होगी यानी, सौ, 150…। नॉर्वे की फंड नॉर्जेज, कुवैत इन्वेस्टमेंट, टी. रॉ प्राइस, फिडेलिटी, ब्लैकरॉक और जेपी मॉर्गन के साथ-साथ सिंगापुर की सॉवरन वेल्थ फंड टेमसेक जैसे कुछ निवेशक हैं, जो शेयर खरीद चुके हैं।

यह भी पढ़ें :-  एटीएम से बिना बैंक खाते के भी निकाल सकेंगे पैसे

ब्रोकरेज फर्म निर्मल बंग इंस्टिट्यूशनल इक्विटीज ने एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस और इसकी प्रतिस्पर्धी कंपनियों के कुछ तुलनात्मक चार्ट पेश किए हैं। निवेशकों को सलाह दी गई है कि आईपीओ में निवेश से पहले इन चार्ट्स पर नजर जरूर डाल लें। एंजल ब्रोकिंग के जयकिशन जे. परमार का कहना है कि थोड़ा प्रीमियम बिलकुल उचित है। इसके लिए वह हर प्रीमियम कैटिगरी में लगातार तेजी, पिछले चार सालों से डिविडेंट पेआउट में बेहतरी, मजबूत मालिकाना देखरेख, विश्वसनीय ब्रैंड, सर्वोच्च वीएनबी मार्जिन और कारोबारों का शानदार संतुलित मिश्रण आदि का हवाला देते हैं।

वहीं, मोतीलाल ओसवाल सिक्यॉरिटीज ने कहा कि लिस्टेड प्रतिस्पर्धियों के मुकाबले एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के आईपीओ का वैल्युएशन थोड़ा ज्यादा है। इसके मुताबिक, भारत में इंश्योरेंस क्षेत्र के ग्रोथ की अपार संभावनाओं, मजबूत वित्तीय प्रदर्शन, ग्राहकों की मांग पर नजर आदि की वजह से इशू का प्रीमियम वैल्युएशन सही है। लंबे समय के लिए निवेश करने वाले निवेशक लाभ में रहेंगे। agency

यह भी पढ़ें :-  बड़ा फैसला, इस अवधि तक निष्क्रिय रही सभी कंपनियाँ बंद

more recommended stories