मुंबई पुलिस अंडरवर्ल्ड के खिलाफ सख्त, इकबाल के बाद राव हिरासत में

मुंबई । मुंबई पुलिस धीरे-धीरे मुंबई में अंडरवर्ल्ड को जड़ से खत्म करने की ओर बढ़ रही है। पिछले दिनों हुई इकबाल कासकर की गिरफ्तारी के बाद गुरुवार को मुंबई क्राइम ब्रांच ने डॉन डी के राव को हिरासत में लिया है। एक विश्वस्त सूत्र ने इस खबर की पुष्टि की है। डीके राव दो बार पुलिस के एनकाउंटर में जिंदा बच चुका है। राव लंबे समय तक छोटा राजन के साथ जुड़ा रहा था। पिछले दो दशक में उसका ज्यादातर समय जेल में ही बीता है। कुछ समय पहले ही वह जेल से बाहर आया था।

 

उसका मूल नाम रवि मल्लेश वोरा है। कई साल पहले लेडी सिंघम के नाम से मशहूर इंस्पेक्टर मदुला लाड के साथ हुए एनकाउंटर में जब वह घायल हुआ था,तो उसके जेब से एक बैंक का फर्जी आईकार्ड मिला था। इसमें उसका नाम डी के राव लिखा हुआ था। तब से अंडरवर्ल्ड में उसे इसी नाम से जाना जाने लगा।

उल्लेखनीय हैं कि जब डी शिवानंदन मुंबई क्राइम ब्रांच चीफ थे, तब दादर में हुए एक एनकाउंटर में चार लोग मारे गए थे। डी के राव उस मुठभेड़ में घायल हो गया था। छोटा राजन के दो साल पहले भारत डिपोर्ट किए जाने के बाद उसका गैंग मुंबई में अब लगभग खत्म हो चुका है। इसलिए अभी यह साफ नहीं हुआ है कि डी के राव खुद का गिरोह चला रहा था या किसी और गिरोह से जुड़ गया था।

पिछले एक महीने में ठाणे पुलिस ने दाऊद और रवि पुजारी गिरोह के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की करते हुए दाऊद के भाई इकबाल को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ बुधवार को मकोका भी लगा दिया गया है। मुंबई में डी के राव के हिरासत में लिए जाने के बाद अंडरवर्ल्ड के लगभग सभी सरगनाओं को पुलिस की तरफ से एक तरह से सख्त संदेश देने की कोशिश की गई है। agency

more recommended stories