देश संविधान से चला करता है : प्रोफेसर रामवीर सिंह

आगरा। देश संविधान से चला करता है। हमारी न्यायपालिका रात के 12:00 बजे भी खुलती है पहले ऐसा नहीं होता था। यह संविधान की ताकत है। ये वक्तव्य  केंद्रीय हिंदी संस्थान आगरा के सभागार में संविधान दिवस पर आयोजित हुई विचार गोष्ठी के दौरान संस्थान के प्रोफेसर रामवीर सिंह ने छात्र-छात्राओं से कहे।सोमवार को केंद्रीय हिंदी संस्थान के सभागार हॉल में संविधान दिवस और डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 125 वी जयंती मनाई गई। प्रोफेसर रामवीर सिंह और प्रोफेसर महेंद्र सिंह राणा ने अंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण किया।

कार्यक्रम अध्यक्ष प्रोफेसर रामवीर सिंह ने कहा कि डॉ० भीमराव अंबेडकर ने संविधान बना कर सभी लोगों को बराबरी, वोट, शिक्षा,न्याय, समानता कई मौलिक अधिकार देश की जनता को दिए हैं। संविधान बनाने में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा। देश के संविधान में गरीब और अमीर सब बराबर हैं। किसी भी देश की दो मूलभूत बातें राष्टï्रीयता और राष्ट्रवाद होती हैं। हम कितने राष्ट्रवादी हैं,यह हमारे आचरण से पता चलता है।

प्रोफेसर महेंद्र सिंह राणा ने कहा हमारे संविधान की सबसे बड़ी विशेषता है उसमें लचीलापन है। संविधान में करीब 300 से अधिक बार संशोधन किए गए हैं। संविधान ने देश और समाज को उनके कर्तव्य बताए हैं। आजादी के बाद देश की शासन व्यवस्था सुचारू रूप से चलाने के लिए हमें संविधान बनाने की जरूरत महसूस हुई थी।

पत्रकारिता विभाग के विभागाध्यक्ष और कार्यक्रम संचालक केसरी नंदन ने बताया संविधान बनाने में कई देशो का हमें सहयोग लेना पड़ा। संविधान का संरक्षक सुप्रीम कोर्ट है। उन्होंने छात्रों को संविधान के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी। उमेश ने कहा कि संविधान बनने में 2 वर्ष 11 में 18 दिन का समय लगा । प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था यह संविधान की ही ताकत है कि हम स्वतंत्रता से अपने अधिकारों का प्रयोग कर सकते हैं।

इस दौरान संस्थान के छात्रों ने भी अपने विचार व्यक्त किए उन्होंने कहा कि जब भी हम अधिकारों की बात करते हैं तब सबसे पहले हमें संविधान याद आता है। पहले लोगों की शिक्षा ग्रहण करने का रेश्यो 6 प्रतिशत था जो अब कई गुना बढ़ चुका है। यह सब संविधान से मुमकिन हो पाया है। संविधान ने हमें फंडामेंटल राइट्स दिए हैं।छात्रों को प्रोफेसर रामवीर सिंह ने संविधान की शपथ दिलाई।इस अवसर पर प्रोफेसर रामवीर सिंह, प्रोफेसर महेंद्र सिंह राणा, पत्रकारिता विभाग अध्यक्ष केसरी नंदन,प्रोफेसर राजशंकर शर्मा,अमित मिश्रा,अभिषेक त्यागी,राजीव कुमार,ऋषभ बंसल,मोहन सिंह जितेंद्र रावत, सुभाष रावत,शिवम भटनागर, देवकांत एवं विदेशी छात्र-छात्राएं तथा संस्थान स्टाफ मौजूद रहा।

more recommended stories