अयोध्या में भगवान राम वनवास में, जनता के साथ सबसे बड़ा विश्वासघात : शिवसेना

अयोध्या। शिवसेना ने राम मंदिर मुद्दे को लेकर भाजपा पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए शनिवार को कहा कि भगवान राम की बातें करने वालों ने केंद्र और उत्तर प्रदेश में सत्ता में रहने के बावजूद अयोध्या में उन्हें ‘‘वनवास’’ में रखा. शिवसेना ने कहा कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ‘‘कुंभकर्ण’’ को उसकी ‘‘गहरी नींद’’ से जगाने के लिए अयोध्या में हैं ताकि मंदिर निर्माण की शुरुआत की जा सके.शिवसेना ने अपनी मांग दोहरायी कि राम मंदिर निर्माण के लिए 2019 से पहले एक अध्यादेश लाया जाए.शिवसेना ने भाजपा का नाम लिये बिना उसकी तुलना ‘कुंभकर्ण’ से की जो कि अपनी लंबी नींद के लिए जाना जाता है.

ठाकरे दो दिन के दौरे पर शनिवार को अपने परिवार के साथ उत्तर प्रदेश के मंदिर नगरी अयोध्या पहुंचे. शिवसेना ने ‘सामना’ में एक संपादकीय में दावा किया कि अब हिंदुओं का यही मत है कि ‘‘पहले मंदिर फिर सरकार.’’संपादकीय में लिखा है, ‘‘मंदिर निर्माण का वादा प्रत्येक चुनाव में किया जाता है, उसके बारे में बातें करने वालों के केंद्र और उत्तर प्रदेश में सत्ता में रहने के बावजूद उसका निर्माण नहीं हुआ है.भगवान राम को अयोध्या में ही वनवास मिला हुआ हैं.’’।

more recommended stories