अवैध असलाह सप्लायर गिरोह का पर्दाफाश,गिरफ्तार

फिरोजाबाद,शिकोहाबाद। पुलिस ने जनपद में अवैध असलाह बनाकर सप्लाई करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को शिकोहाबाद के एफसीआई गोदाम के पास से उस समय गिरफ्तार कर लिया जब वह अवैध असलाहों की सप्लाई करनेे एजेंटों के पास आया था। पकडं़े गए असलाह तस्करों ने आसपास के जिलों में अपना नेटवर्क फैला रखा था। गिरोह के सदस्य असलाह बनाकर आसपास के जिलों में आपूर्ति करतें थें। पुलिस ने इनके कब्जे से अवैध तमंचा,कारतूस और मोटरसाइकिल बरामद की है। पुलिस ने गैंग का पर्दाफाश कर दोनों सदस्यों को जेल भेज दिया है।

फिरोजाबाद के पुलिस लाइन सभागार में एसएसपी सचिन्द्र पटेल ने पत्रकारों को बताया के गिरफ्तार अभियुक्त रक्षपाल यादव पुत्र सरदार उर्फ सिरदार यादव निवासी पिलखुल,जलेसर,एटा और सतीश चंद्र जाटव पुत्र उदयवीर सिंह निवासी सैलई,सब्जी मंडी रोड,रामगढ़ फिरोजाबाद गैंग बनाकर अवैध असला फैक्ट्री का संचालन कर रहे थे। यह अवैध असलाहों की खेप शिकोहाबाद में अपने एजेंटों को देने आए थे उसी दौरान पुलिस के हत्थे चढ़ गए।इनका एक साथी नित्यानंद उर्फ नितेश पुत्र सुखदेव बढ़ाई निवासी सभापुर,थाना निधौली कला,एटा मौका परकर फरार हो गया। अभियुक्तों के पास से 315 बोर के 10 अवैध तमंचे,दो 32 बोर जिन्दा कारतूस और एक मोटरसाइकिल पैशन प्रो यूपी 80 सीएल 6224 बरामद हुई है। इनके गैंग में कई साथी और भी है।

उन्होंने बताया के इनकाआपराधिक इतिहास भी रहा है। एत्मादपुर,आगरा और थाना रामगढ़ में आम्र्स एक्ट के अंतर्गत कई आपराधिक मुकदमें इन पर दर्ज है। यह शातिर अपराधी होने के साथ-साथ असलाह बनाने के कुशल कारीगर भी हैं। अवैध असलाह बनाकर स्वयं भी सप्लाई करते हैं।अवैध तमंचे की सप्लाई हेतु इन्होंने जनपद और आसपास के क्षेत्रों में एजेंट बनाए रखे हैं जो इनके द्वारा बनाए गए अवैध असलाहों की बिक्री करते हैं। प्रति असलाह को दो से तीन हजार तक बेचतें हैं। पकड़ें जाने के डर से समय-समय पर फैक्ट्री का स्थान भी बदलते रहते थे। क्राइम ब्रांच प्रभारी कुलदीप सिंह और थाना शिकोहाबाद एसएसओ लोकेश भाटी और उनकी टीम ने अवैध असलाह सप्लायर गिरोह का भंडाफोड़ किया है।

more recommended stories