मेरी आवाज़ सुनों ‘ कहानी संग्रह का लोकार्पण सम्पन्न

मुंबई /शैलेंद्र पांडे /भायंदर। ‘ हिंदी प्रचार एवं शोध संस्था ‘ तथा ‘ मीरा-भायंदर शिक्षक एशोसिएशन ‘ द्वारा संयुक्त तत्वावधान में भायंदर (पूर्व) स्थित राहुल डी. एड. कॉलेज हॉल में ‘ मेरी आवाज सुनों ‘ कहानी-संग्रह पुस्तक का विमोचन हुवा।
कार्यक्रम की शुरुवात सरस्वती वंदना एवं दीप-प्रज्वलन से शुरू हुवी। कहानी-संग्रह के लेखक प्रभाकर मिश्र हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता एल्फिस्टन कॉलेज के पूर्व हिंदी विभागाध्यक्ष मूर्धन्य साहित्यकार डॉ. सुधाकर मिश्र ने किया। प्रमुख अतिथि के रूप में ‘ राहुल एजुकेशन सोसाइटी ‘ के चेयरमैन लल्लन तिवारी विशेष रूप से उपस्थित थे।
कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि के रूप में शिक्षक आमदार, मुम्बई कपिल पाटील समेत अन्य प्रबुद्ध वक्ताओं में के. सी. कॉलेज के आचार्य एवं पूर्व हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. शीतलाप्रसाद दुबे, एम. वी.एल. वी. कॉलेज के प्रोफेसर व वरिष्ठ कहानीकार प्रोफ़ेसर त्रिभुवन पाठक, हिंदी साहित्यिक पत्रिका ‘ चिंतन दिशा ‘ के संपादक ह्रदयेश मयंक ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन  ‘ समन्वय संकल्प’ संस्था के अध्यक्ष अनिरुद्ध पांडेय  ने किया।
उक्त कार्यक्रम में हिंदी साहित्यिक पत्रिका ‘ संयोग साहित्य’ के संपादक पं. मुरलीधर पांडेय, डॉक्टर उमेश चंद्र शुक्ल, कवि एवं पत्रकार राकेश शर्मा, लेखक शैलेश सिंह, वैद्य बी. बी. चौबे ‘ रसिक’ , एडवोकेट आर. जे. मिश्रा, अभयराज चौबे, अकराल, सुभाष पांडेय,आनंदप्रकाश पाठक, सरस पांडेय, जे.एन. तिवारी, जयप्रकाश मिश्रा, माताकृपाल उपाध्याय, अजीतकुमार सिंह, राम बचन राय, रमेश द्विवेदी,  हरेन्द्रप्रताप सिंह , वीरेंद्र कुमार दुबे, शारदा प्रसाद पाण्डेय, शिवबहादुर सिंह, लायन सभाजीत उपाध्याय ‘हरहर’, शोभनाथ यादव, सतीश चौबे, राजीवमणि त्रिपाठी, आनंदप्रकाश मिश्र, कपिलदेव झा, कमलाप्रसाद सिंह, गुलाबधर तिवारी आदि मान्यवर भारी संख्या में उपस्थित थे।

more recommended stories