BSA  के औचक निरीक्षण में गायब मिले 52 शिक्षकों  पर कार्यवाही

 

समय भास्कर फिरोजाबाद/

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अरविंद कुमार पाठक द्वारा टूंडला विकासखंड के औचक निरीक्षण के दौरान 52 शिक्षक, शिक्षामित्र, अनुदेशक गायब मिले इस मामले में कार्रवाई करते हुए बीएसए द्वारा सभी का 1 दिन का वेतन काटा गया है। वहीं कुछ विद्यालय में बच्चों का  शैक्षिक स्तर बहुत ही निम्न मिलने पर पूरे स्टाफ का वेतन शैक्षिक स्तर सुधरने तक मिला । जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा  स्कूलों का निरीक्षण स्वयं एवं खंड शिक्षा अधिकारी, एबीआरसी के माध्यम से कराया गया।

  • प्राथमिक विद्यालय नगला गोला विकासखंड टूंडला में निरीक्षण के दौरान विद्यालय में कार्यरत दिलीप कुमार प्रधानाध्यापक, संध्या गौतम सहायक अध्यापक, शिक्षा मित्र सुनीता अनुपस्थित पाई गई । विद्यालय में नॉन BPL छात्रों को यूनिफार्म का वितरण नहीं किया गया है।
  • प्राथमिक विद्यालय सतौली नगला महादेव के निरीक्षण में पाया गया कि विद्यालय 8:30 बजे तक खुला ही नहीं था। विद्यालय परिसर में सहायक अध्यापक और बच्चे खड़े मिले । अनुपस्थित पाए गए शिक्षक रचना व प्राची बैजल एक दिन का वेतन रोका गया।।
  • प्राथमिक विद्यालय मोहम्मदाबाद के निरीक्षण में सिर्फ 72 बच्चे उपस्थित मिले जबकि विद्यालय में 213 बच्चे पंजीकृत हैं।
  • प्राथमिक विद्यालय बन्ना के निरीक्षण के दौरान स्वर्नलाता  जैन  प्रधानाध्यापक, सहायक अध्यापक माया,  शिक्षामित्र विनीता एवं रविता वर्मा विद्यालय परिसर में बातें करते हुए मिले । इस मामले की गंभीरता को देखते हुए विद्यालय के पूरे स्टाफ का एक दिन का वेतन रोका गया। बच्चों की उपस्थिति भी काफी कम पाई गई 172 बच्चे विद्यालय में पंजीकृत है जबकि 69 बच्चे उपस्थित पाए गए।
  • उच्च प्राथमिक विद्यालय बन्ना के निरीक्षण के दौरान बच्चे पानी, बादल की अंग्रेजी प्राउड का अर्थ, चंद्र ग्रहण सूर्य ग्रहण कब होता है। एक बटा दो एक बटा 7 में कौन सा बड़ा है।  इस तरह के मामूली प्रश्नों के जवाब भी बच्चे नहीं दे सके । मामले की गंभीरता को देखते हुये  बीएसए अरविंद कुमार पाठक द्वारा  कड़ी कार्रवाई करते हुए विद्यालय में कार्यरत समस्त शिक्षकों का वेतन शैक्षिक स्तर में सुधार होने तक रोका गया है।
  • प्राथमिक विद्यालय गढ़ी मोती में निरीक्षण के दौरान सिर्फ 15 बच्चे उपस्थित पाए गए। मिड डे मील की गुणवत्ता खराब पाई गई।  इस संबंध में कार्यवाही करते हुए प्रधानाध्यापक नरेंद्र सिंह का वेतन रोका गया ।
  • प्राथमिक विद्यालय सिकरारी में अनुपस्थित पाई गई शिक्षामित्र अनीता शर्मा का 1 दिन का वेतन रोका गया।
  • उच्च प्राथमिक विद्यालय सिकरारी की  इंचार्ज प्रधानाध्यापक मीनू सिंह का वेतन विद्यालय में बच्चों की संख्या कम होने के कारण   रोका गया।

इस तरह की कड़ी कार्यवाही  शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाने में कारगर साबित होती है एवम शासन द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं का लाभ बच्चों तक पहुंच पाता है।

Loading...

more recommended stories